Wednesday, 13th December, 2017

‘वोट’ चाहिए तो मोदी जी दिखाएं अपना आधार कार्ड: आधार पीड़ित नागरिक

04, Dec 2017 By Feminist: To Be or Not to Be

आधार कार्ड जमा नहीं करने पर बैंक अकाउंट बंद करने की धमकी देश में हर किसी को मिल रही है| इस धमकी को देश के एक आम नागरिक ने दिल पर ले लिया है| और धमकी का जवाब धमकी से देने की ठानी है|

अपने ‘मन की बात’ करते हुए उस आम आदमी ने कहा है कि अगर वोट चाहिए तो मोदी जी को दिखाना होगा अपना आधार कार्ड|

कहाँ है मोदी जी का आधार ?
कहाँ है मोदी जी का आधार ?

उसने यह भी माँग की “जैसे मोबाइल नंबर को आधार से लिंक करना अनिवार्य है, ठीक वैसे ही हर नेता को अपना आधार कार्ड चुनाव आयोग से लिंक करवाना चाहिए”| फेकिंग न्यूज़ के संवाददाता को उसने बताया “जिसे देखो आधार कार्ड माँग रहा है, ‘ओला’ और ‘पे टी एम’ भी आधार कार्ड मांगने लगे हैं| वो दिन दूर नहीं जब सिनेमा हॉल वाले भी आधार कार्ड मांगने लगेंगे और चाट बेचने वाला!”

इस व्यक्ति ने घर घर जाकर लोगों को कहना शुरू कर दिया है कि २०१९ के चुनाव में जो नेता उनसे वोट मांगने आये वो उससे उसका आधार कार्ड मांगे| कार्ड नहीं होने पर वो उस नेता को वोट ना दें| चुनाव आयोग से भी उसने यह गुहार लगाई है कि बिना ‘आधार वेरिफिकेशन’ किसी को चुनाव लड़ने ना दिया जाये| आधार पीड़ित मतदाता यह भी चाहता है कि सारे एम.पी और एम.एल.ए ३१ दिसम्बर २०१७ तक अपने आधार नंबर को चुनाव आयोग से लिंक करें अन्यथा उनकी कुर्सी भी ‘बैंक अकाउंट’ की तरह ‘फ्रीज़’ हो जानी चाहिए| इस मतदाता ने आगे कहा कि जो भी नेता ऐसा करने में आना कानी करे उसे “एंटी-नेशनल” घोषित किया जाये|

यह नागरिक सिर्फ इतना चाहता है कि नोट बंदी की तरह यह नियम भी केवल आम नागरिक की परेशानी बनकर ना रह जाए| अगर यह लोगों की भलाई के लिए उठाया गया कदम है तो नेताओं को भी इस मिशन में बढ़ चढ़ कर हिस्सा लेना चाहिए|