Friday, 15th December, 2017

बिहार मे विधायक का बेटा साइकिल चलाता हुआ पाया गया,विधानसभा ने किया नोटिस ज़ारी

06, Jun 2016 By chachachaudhary

बिहार मे सुशाशनगंज के अपहरणपुर से विजयी विधायक सुसज्जन सिंघ के पुत्र रिंकू को कल रात पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया. पहले तो लोगो को यही लगा की उसने गाड़ी तेज़ चलाते हुए किसी को कुचल दिया होगा या किसी को गोली मार दी होगी पर जब फेकिंग न्यूज़ के खोजी पत्रकार बोनोबॉस बेवड़ा ने खोज खबर ली तो पता चला की उसका अपराध तो और भी जघन्य निकाला.

बिहार मे विधायक का बेटा साइकिल चलाता हुआ पाया गया,विधानसभा ने किया नोटिस ज़ारी.
बिहार मे विधायक का बेटा साइकिल चलाता हुआ पाया गया,विधानसभा ने किया नोटिस ज़ारी.

पुलिस की तरफ से जो बयान जारी हुआ उसमे बताया गया की वो अपने कॉलेज से वापस घर साइकिल चला कर आ रहा था. पुलिस ने जब उसके दस्तावेज़ देखे तो पता चला वो विधायक जी का बेटा है.विधायक जी का बेटा और साइकिल की सवारी,तभी से पुलिस का माथा ठनका और रिंकू को हिरासत मे ले कर पूछ ताछ की जा रही है. बारीकी से छान बिन की गई तो पता चला की रिंकू की पास एक भी गाड़ी नही है और वो साइकिल ही चलाता है्.पहले तो पुलिस को यह लगा की  वो ”वर्दी उतरवा देंगे ”या ”पिताजी से कह के खाल खिचवा देंगे ”या हमको जानते नही तो का’ बोलेगा पर जब उसने ऐसा कुछ नही बोला तो पुलिस को हताश होकर उसे रिमांड पर लेना पड़ा.और तो और उसके पास कोई हथियार भी बरामद नही हुआ.

रिंकू की इस हरकत से पूरा उत्तर भारत के सारे विधायक सकते मे है.उन्हे लग रहा है की कैसे कोई विधायक बेटा ऐसी नीच हरकत कर सकता है.पुलिस की इस कार्यवाही के बाद विधानसभा से सुसज्जन सिंघ को नोटीस जारी हुआ और इस वारदात की सफाई माँगी गयी है.

एक पूर्व विधायक क्रूर सिंघ ने गुस्से मे कहा”विधायक के पास कम से कम रेंज रोवर,लैंड रोवर,लैंड क्रूजर या सस्ता मे सस्ता टोयोटा फॉर्चून्नर तो होना ही चाहिए,विधायक का इतना ग़रीब है की उसका बच्चा लोग को साइकिल लेके कॉलेज जाना पड़े,और ई सुसज्जन सिंघ जी का बबुआ रिंकू पत्रकारिता की डिग्री क्यूँ ले रहा है,अरे बिहार मे पत्रकार और इंजिनियर होना कितना डेंजर बात है इनको पता नही है का. अरे विधायक जी का बेटा है,राजनीति सीखे,जनता को पढ़े लिखे पॉलिटीशियन पसंद नही आते,और पढ़ना ही था तो डिग्री घर पे मंगवा देते.बिरादरी मे नाक कटवाने की क्या ज़रूरत थी. हम अगले विधानसभा सत्र मे सुसज्जन सिंघ जी से इस्तेफे की मांग करेंगे,रिंकू को देख के हमारे बच्चे बिगड़ जाएँगे,ज़रूर विपक्षी दल की साज़िश है. हम तो अपने लल्लन को बोल दिए है,रोज अलग अलग गाड़ी ले के ही बाहर जाया करे,अभी राज्य सभा का चुनाव होगा तो वोट करने पर दू तीन गाड़ी और मिल जायेग.साला हम तो बोलते है की गाड़ी इतना भारी हो की एक्के बार मे सड़क टूट जाए,तभी तो नया ठेका बाहर निकलेगा और नया गाड़ी आएगा.