Monday, 23rd October, 2017

ट्वीट चोरी करने पर दो गुटों में झड़प, मसला कोर्ट में भी पहुंचा

12, Feb 2016 By banneditqueen

lawyer

एम पी नगर ज़ोन २ के रहवासी गट्टू ने तड़के चार बजे जब अपना ट्विट्टर अकाउंट खोला तो देखा की उन्हीं का लिखा हुआ ट्वीट किसी दूसरे के अकाउंट में खुलेआम सैर कर रहा है।

अधिकतर जनता के ऑनलाइन न होने के चलते उन्होनें ट्रैफिक होने तक का इंतेज़ार किया। जब दोबारा लॉग-इन किया तब तक चोरी हुए ट्वीट पर ७४५ रिट्वीट आ चुके थे।

स्क्रीनशॉट लेकर ट्वीट किया पर चोरी करने वाले शख्स ने ट्वीट चोरी के आरोपों को सिरे से नकार दिया। दोनों में बहस होने लगी, तभी गट्टू और चोर दोनों के दोस्त विवाद स्थल पर पहुँचे कई घंटो तक बहस चलने के बाद दोनों गुटो में झड़प होने लगी।

पहले की हुई चोरी के स्क्रीनशॉट्स, गाली गलौच, स्लाई और ब्लॉक की बौछार होने लगी। मामला बिगड़ते देख ट्विट्टर भोपाल थाना प्रभारी ने मामले का संज्ञान लिया। उन्होंने फेकिंग न्यूज़ संवाददाता को जानकारी दी कि मौके पर धारा १५५ लगा दी गई और मामले की जाँच जारी है।

हालाँकि बाद में मोहल्ले वालो ने सिर्फ २०० से कम फालोवर वालों के ट्वीट चोरी करने की सलाह देकर दोनों गुटों में समझौता करवा दिया।

वहीं एक और मामले में आज सीरियल ट्वीट चोर रवींद्र हटेजा मामले की सुनवाई हुई। उन्होंने ने कबूल किया कि वो भक्ति शेट्टी का बिस्कुट ट्वीट भी चोरी करने वाले थे। जूरी मेम्बरान् ने उनके आपराधिक रिकॉर्ड और गैरकानूनी तरीके से कमाए हुए फॉलोवर्स पर सफाई माँगी और उनहें एक हफ्ते की मोहलत दी है।

मामले की गम्भीरता को देखते हुए कोर्ट ने उनके ट्विट्टर अकाउंट पर रोक लगा दी है। हटेजा के साथियों को भी डी एम लीक करने के बाद ब्रीच ऑफ प्राइवेसी के इल्ज़ाम के चलते जेल में एक रात बितानी पड़ी। अपराधियों का कहना है कि ट्वीट चोरी करने के बाद भी उनके फॉलोवर काउंट में इजाफा नहीं हो रहा था तब उन्हें मजबूरन ये कदम उठाना पड़ा।

आरोपियों के मोबाइल की जाँच में कई डी एम स्क्रीनशॉट्स मिले और डी एम में कई लोगो को अपने बेकार से बेकार ट्वीट लिंक भेजने की बात भी सामने आई।

ऐसे ही कई मामले फेसबुक पर भी सामने आए DID vs Bhajnikant नामक पेज पर पहले से कई आरोप लम्बित हैं, कई बार रंगेहाथ पकड़े जाने के बाद एडमिन ने ट्वीट क्रेडिट देना शुरू कर दिया है, पर पुराने मामलो में की कोई भी जाँच न होने पर कई ट्वीप्स अभी भी नाराज़ हैं। एडमिन की फिल्हाल कोई खबर नहीं है।

वहीं पुलिस ने वॉट्सैप ग्रुप एडमिन्स को भी सूचित किया गया है कि मैसेज फॉर्वर्ड करने में जल्दबाजी़ न करें।

उधर सिवनी के वकील प्रशांत टूशन ने कोर्ट में एंटी ट्वीट कॉपी एक्ट के लिये PIL दायर की है। कोर्ट संता बंता जोक्स में व्यस्त होने के चलते कोई तारीख तय नहीं कर पाई है।

टूशन जी का कहना है के सभी ट्वीट्स में वॉटरमार्क लगाने की सुविधा दी जाए और घटिया क्वालिटी के फोटोशॉप् पर रोक लगाई जाए।

इस PIL के चलते छोटे ट्वीट्स के ट्वीट चुराने वालों की रातों की नींद उड़ गई है, लेकिन ट्वीट चोरी से परेशान लोगों ने इस सुझाव का स्वागत किया है और इसके एवज में टूशन जी के खिलाफ लिखे गए ट्वीट्स डिलीट करने की बात कही है। ख़बर है कि एक्ट पास होने पर उनहें #FF से भी नवाज़ा जाएगा।