Monday, 21st August, 2017

ट्रोल आर्मी की कमान संभाली वीरू और रणदीप हुड्डा ने, दूसरी ओर लड़की भी कर रही डट कर सामना: जानिए पुरे युद्ध की रिपोर्टिंग

01, Mar 2017 By Tarun Vyas

ABVP का पूरा नाम आओ भैय्या विद्यार्थी पिटे है। सारे कॉलेजो में उनका खोफ है। मगर एक बार उनका सामना किसी दूसरे संगठन से हुआ जो उनके बिना किसी डर के ABVP का विरोध कर रहा था। दोनों में बहुत बार युद्ध हुआ जिसमें अब्बास मस्तान की मूवी से भी ज्यादा सस्पेंस रहा और सनी पाजी की फिल्मो वाली डायलॉगबाजी देखने को मिली।

मगर अब इनकी झड़प DU कॉलेज में हुई। इसमें ABVP ने अपने शौर्य प्रदर्शन से सबक दिल जीत लिया। खुद राजा के प्रमुख रणनीतिकार अमित ने ABVP की तारीफ की।

और ऐसे ही आरोप प्रत्यारोप के बीच अभी भी युद्ध विराम नही हुआ है
और ऐसे ही आरोप प्रत्यारोप के बीच अभी भी युद्ध विराम नही हुआ है

मगर इस झड़प में कुछ टीचर्स और पत्रकारो कों भी चोट लगी। इस कारण उनमे कुछ लोगो ने ABVP के खिलाफ उठाने का निर्णय कर लिया। मगर ABVP निश्चिन्त था क्योंकि वहाँ की पुलिस उनके साथ थी। एक लड़की ने भी आवाज उठाने का निश्चय किया। उस लड़की ने “बीरबल ज्ञान” की पुस्तिका से एक आईडिया पढ़ा जिसमे कहा था कि जब पुलिस नहीं सुने तक पूरी दुनिया को उस जुल्म के बारे में बताओ।

उस लड़की ने भी वही किया, फेसबुक के माध्यम से पूरे देश में उस जुल्म और अपने ओपिनियन के बारे में बता दिया।

ABVP को डर लगने लगा परन्तु उनके पास एक हथियार था जो बहुत खतरनाक है। उसका नाम था “ट्रोल आर्मी”। इसके दम पर उन्होंने बहुतों को बदनाम और कुछ को तो जेल तक में डाला है।

इसको तक उपयोग तब किया जाता है जब स्थिति हाथ से निकल रही होती है। ये विश्व के सबसे प्रभावशाली आर्मी मे से एक है और सबसे बड़ी खासियत ये है कि इनमें से 80% फ्री में काम करते है। देशभक्ति और राष्ट्रवाद नाम की कोई जादुई चीज़ दिखा इन्हें समोहन क्रिया द्वारा ये काम करवाया जाता है। इन्होने उस लड़की के खिलाफ अपनी आर्मी को नजर रखने के लिए कह दिया।

जब तक इनको अटैक करने के लिए नहीं कहते ये तब तक ये ट्रोल आर्मी के सदस्य देशद्रोही का सर्टिफिकटो का निर्माण शुरू कर देते है। तब तक ये नयी नयी गालियों का अभ्यास शुरू कर देते है, जिसको शिकार बनाना है उसके पुराने वीडियो, फोटो सब ढूंढ ढूंढ कर पूरा डेटा बेस तैयार कर देते है।

फिर समय आता है हरी झड़ी दिखाने की, इस बार राजा ने ट्रोल आर्मी को एक्टिव करने की कमान अबकी बार अपने वीरू और रणदीप हुड्डा नाम के दो विख्यात लोगो को सौंपी।

दोनों ने इस लड़की को ट्रोल किया और साथी सिपाहियों को ट्रोल करने के लिए हरा झंडा दिखाया। इनके उत्कृष्ट काम को देख ट्रोल आर्मी के महाराजा मोदी बहुत प्रसन्न हुए। इनकी कार्य को देखते हुए इनको पार्ट्री में प्रमुख पद आने वाले समय में मिल सकता है।

मगर उस लड़की ने भी डट कर इनका सामना कर रही है। उसको बलात्कार की धमकी मिली, मारने की धमकी की मिली। मगर उसने हिम्मत दिखाई और वीरता से युद्ध लड़ रही है।

हमारे युद्ध विशेषज्ञ बक्सी साहेब से हमने इस युद्ध को रोकने के लिए कोई तरीका पुछा तो उन्होंने बताया, “ये जो युद्ध चल रहा है ये जब तक सब लोगो को उस अंध राष्ट्रवाद के वशिकरण से आजादी नहीं मिलेगी तब तक ये युद्ध चलता रहेगा। तक तक ट्रोल आर्मी में लोग जुड़ते रहेंगे। तब तक बोलने की आजादी को दबाया जाता रहेगा। ये युद्ध को अंजाम तक पहुँचाना अपने हाथों में है। इस अंध राष्ट्रवाद के वशिकरण को तोड़ना ही होगा।”