Sunday, 17th December, 2017

तृप्ति देसाई के लिये सरकार ने बनाई 'इंटरफेरेंस मिनिस्ट्री', सिर्फ़ दखल देने का काम करेगा ये मंत्रालय

17, May 2016 By banneditqueen

मुंबई. अक्सर अपनी दखल देने की आदत के चलते मशहूर भू-माता ब्रिगेड की अध्यक्ष तृप्ति देसाई एक बार फिर सुर्खियों में हैं। मंदिरों और दरगाहों के काम-काज में सफलतापूर्वक दखल देने बाद अब तृप्ति शराब पीने वालों की ज़िंदगी में दखल देने की मांग कर रही हैं।

Trupti1
फ़ेकिंग न्यूज़ की टीम का विरोध करतीं तृप्ति देसाई

रोज़ रोज़ किसी ना किसी काम में अड़ंगा डालने की उनकी इस अनूठी प्रतिभा से प्रभावित होकर सरकार ने उन्हें ‘दखल-मंत्री’ बनाने का फ़ैसला किया है, जिसके लिये ‘इंटरफेरेंस मिनिस्ट्री’ नाम से एक नया मंत्रालय बनाया जा रहा है।

सरकार के प्रवक्ता ने फेकिंग न्यूज को जानकारी दी कि “तृप्ति के इस टेलेंट से मुख्यमंत्री जी बहुत इंप्रैस हैं। हर जगह, हर समय और हर बात पर विरोध जताना तो कोई उनसे सीखे! इसीलिए हम तृप्ति जी के लिये एक अलग विभाग बना रहे हैं, जहाँ वे स्वतंत्र होकर किसी भी काम में दखल दे सकेंगी।”

उधर, तृप्ति सरकार के इस फ़ैसले से भी तृप्त नहीं हैं और उन्होंने इसमें भी दखल दे दिया है। उनका कहना है कि “सरकार पहले ये बताये कि इस फैसले से पहले उसने कितनी महिलाओं की सहमति ली? इस मिनिस्ट्री में NGOs को भी प्रवेश करने का अधिकार दिया जायेगा या नहीं?”

उनकी इस मांग दखलंदाज़ी के सामने झुकते हुए सरकार NGOs को भी उनके मंत्रालय से जोड़ने पर सहमत हो गयी है। अब उसमें ऐसे लोगों को भी रखा जायेगा, जो फेसबुक और ट्विटर पर हर छोटी-मोटी बात पर ऊधम मचाते रहते हैं। ऐसा होने से तृप्ति के दखल विभाग पर बेकारी काम का बोझ कुछ कम किया जा सकेगा।