Monday, 11th December, 2017

सीट बेल्ट बांधे हुए था टैक्सी ड्राइवर, पर ट्रैफिक पुलिस की आंखों से बच न सका

29, Jun 2015 By A. Jayjeet

भाेपाल। एक नौसिखिया टैक्सी ड्राइवर की मामूली गलती उस पर ही भारी पड़ गई। ट्रैफिक पुलिस ने रविवार को इस टैक्सी ड्राइवर को पकड़ लिया क्योंकि उसने सीट बेल्ट बांधकर रखी थी। हालांकि बाद में पुलिस ने मानवीयता के आधार पर केवल 300 रुपए लेकर उसे छोड़ दिया।

सुनील नामक एक ड्राइवर इंदौर से टैक्सी लेकर भोपाल आया था। उसने हाल ही में टैक्सी खरीदी है। उसे पुलिस रोके नहीं, इस डर से उसने सीट बेल्ट बांध रखी थी। लेकिन सर्कल पर खड़े अनुभवी ट्रैफिक इंस्पैक्टर और कांस्टेबल ने भांप लिया कि बंदा नया है अौर पुलिस की आंखों में धूल झोंकना चाहता है। इसलिए उस इंस्पैक्टर ने उसे रोक लिया।

कोई नहीं बच सकता इनसे
कोई नहीं बच सकता इनसे

उसके सारे दस्तावेजों की गहन जांच की गई। सारे दस्तावेज सही पाए जाने पर उसने यह सोचकर गाड़ी का पॉल्यूशन टेस्ट सर्टिफिकेट मांगा कि यह तो होगा ही नहीं। पर पुलिस के आश्चर्य का ठिकाना नहीं रहा जब सुनील ने यह सर्टिफिकेट भी दिखा गया।

इसके बाद पुलिस ने गाड़ी पर धूल की जांच की और सुनील की गलती पकड़ में आ गई। गाड़ी पर धूल लगी होने के कारण इंस्पैक्टर ने 2000 रुपए का चालान काटने का फरमान जारी कर दिया। सुनील द्वारा काफी मिन्नतों के बाद पुलिस ने मानवीयता के आधार पर 300 रुपए लेकर उसे छोड़ दिया।

सीनियर ने दी समझाइश, सीट बेल्ट न बांधें :

बाद में सुनील को एक अनुभवी टैक्सी ड्राइवर राकेश ने समझाइश देते हुए कहा कि वह सीट बेल्ट न बांधें। अगर उसे सीट बेल्ट बांधने की गंदी आदत है भी तो कम से कम ट्रैफिक पुलिस को देखकर सीट बेल्ट अलग कर दें।

राकेश के अनुसार टैक्सी ड्राइवर को सीट बेल्ट बांधा देखकर पुलिस समझ जाती है कि यह नया-नया इस पेशे में आया है। इसलिए वह अनावश्यक परेशान करती है। अब सुनील ने भी कसम खा ली है कि वह न कभी खुद सीट बेल्ट बांधेगा और न ही साथ में बैठने वालों को बांधने देगा।