Wednesday, 13th December, 2017

टॉयलेट में फ़ोन ले जाने पर बीवी ने की धुनाई । पीड़ित पति ने लगाई राष्ट्रपति से गुहार

23, Nov 2017 By Shivv Tiwari

उत्तर प्रदेश के ग़ज़िआबाद जिले के रहने वाले पुत्तन को जरा भी अंदाज़ा नहीं था कि रविवार की सुबह उसके लिए क्या कहर लेके आएगी।

पुत्तन रोज की तरह सुबह उठा और हल्का होने के लिए अपना फ़ोन लेके टॉयलेट में घुस गया। लगभग आधे घंटे तक जब वो बाहर नहीं आया तो पुत्तन की बीवी दुर्गा ने जोर जोर से दरवाजा पीटना शुरू कर दिया। पुत्तन जब घबरा के बाहर निकला तो दुर्गा ने लात और बेलन से पुत्तन की पिटाई शुरू कर दी। जब उतने से भी मन नहीं भरा तो उसने पुत्तन का नया ओप्पो मोबाइल उसी टॉयलेट के कमोड में डाल दिया।

Negotiating for that day
Negotiating for that day

यह देख कर पुत्तन ने घर से भाग कर सीधा पुलिस थाणे पहुंच कर अपनी जान बचाई। पुलिस ने जब दुर्गा से पूछताछ की तो दुर्गा ने बताया- इस आदमी ने जबसे नया फ़ोन लिया है रोज टॉयलेट में एक एक घंटा बैठ कर पता नहीं क्या करता रहता है। मेरे लिए तो इसके पास टाइम ही नहीं है।

वहीं पुत्तन का समर्थन करते हुए उनके पडोसी रमेश ने कहा- अरे भाईसाब आज की भाग दौड़ भरी जिंदगी में अगर आदमी दो पल चैन से बैठ कर मोबाइल चला रहा है तो उसमे गलत क्या है। टॉयलेट में मोबाइल ले जाना आज के युवा की मज़बूरी बन गयी है। दुर्गा भाभी ने बहुत गलत किया। मेरे घर में तो इंडियन टॉयलेट है। फिर भी मैं रोज फ़ोन लेके जाता हूँ।

आपको बता दे कि पुत्तन ने भारत के राष्ट्रपति से गुहार लगाते हुए कहा है सांसद में एक बिल पास किया जाए जिसमे टॉयलेट में फ़ोन ले जाना अनिवार्य कर दिया जाए।

वहीं पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने दुर्गा का समर्थन करते हुए उन्हें दुर्गा का रूप कहा है और राजनीती में शामिल होने का न्योता भी दिया है।

जहां एक तरफ कुछ देशवासी पुत्तन का समर्थन कर रहे हैं वही कुछ लोग इसमें बीजेपी का हाथ बता रहे है। अब देखना दिलचस्प होगा कि क्या पुत्तन को इन्साफ मिल पाएगा?