Monday, 11th December, 2017

सोनिया गाँधी ने चीनी राष्ट्रपति को भेजी राखी, परमाणु युद्ध के हालात

21, Aug 2013 By Amit Bhagat

बुधवार के दिन जब देश रक्षाबंधन की खुशियों में डूबा था वहीँ देश पर परमाणु युद्ध का खतरा मंडरा रहा था। चीन से सम्बन्ध मजबूत करने हेतु पौराणिक कथाओं से प्रभावित होकर सोनिया गांधी ने चीनी राष्ट्रपति को राखी भेजी जिस पर चीन ने भयंकर प्रतिक्रिया दी।

चीनी मीडिया के अनुसार जब राखी की सुरक्षाकर्मियों ने जांच की तो उसमें आवश्यकता से अधिक प्लास्टिक पदार्थ पाया, जिससे किसी विस्फोटक के होने का शक हुआ। कांग्रेस की समझ में नहीं आ रहा था कि ऐसा कैसे हो गया। जांच की गयी तो पता चला कि राखी भेजने की जिम्मेदारी राहुल गाँधी की थी। एक बार फिर से अपने विवेक का परिचय देते हुए उन्होंने राखी की जगह राखी सावंत को भेज दिया था, जिनमें प्लास्टिक पदार्थ कूट कूट कर भरा हुआ है। घटना की गंभीरता का अंदाजा इसी बात से लगाया जा सकता है कि अरनब गोस्वामी की भी समझ में नहीं आ रहा है की किससे प्रश्न करें?

“बेटा तुमसे न हो पाएगा..कहते हुए सोनिया जी बुरी तरह रो पड़ीं” – सलमान खुर्शीद

दिग्विजय सिंह जी ने राहुल गांधी का समर्थन करते हुए कहा है कि हमने अपनी तरफ से 100 % टंच माल ही भेजा था। यदि चीन मिलावटी बाँट सकता है तो प्रयोग में क्या आपत्ति है?

राहुल गाँधी ने अपने कुकृत्य को तर्कसंगत बताते हुए कहा है कि “Chinese President should concentrate on “Rakhi”, “Sawant” is just a state of mind.”

“सोनिया जी फिर से बुरी तरह रो पड़ीं” – सलमान खुर्शीद

वहीँ इस घटना के बाद पाकिस्तान ने उत्तर-पश्चिमी सीमा पर अतिरिक्त सैन्य बल लगा दिए हैं। पाकिस्तान का कहना है कि भारत राखी सावंत भेज कर हमसे वीना मलिक का बदला लेने जैसे गंभीर कदम उठा सकता है।

फिलहाल स्तिथि को काबू करने के लिए यू. पी. ऐ. ने राहुल गांधी और दिग्विजय सिंह को छुट्टियाँ मनाने के लिए इटली भेज दिया है।