Wednesday, 22nd November, 2017

शिवसेना के कात्या ने मुंबई के मेयर पद का ठोका दावा, बीजेपी मे हड़कंप

01, Mar 2017 By bapuji

मुंबई. बीएमसी चुनाव के बाद मेयर के पद के लिए सस्पेंस बना हुआ है और शिवसेना और बीजेपी दोनो पार्टियाँ इस पर कब्जा करने के जुगाड़ में है। ऐसे में दक्षिणी मुंबई के एक वॉर्ड से पार्षद कात्यानंद जी ने मेयर पद पर अपना दावा ठोका है। कात्या के नाम से जाने वाले इस ख़तरनाक पार्षद पर सबकी नज़रे टिक गयी है और लगता है कि बीजेपी के पास इस मुक़ाबले का कोई उम्मीदवार नही है।

उद्धव ठाकरे का झलकता हुआ कॉन्फिडेन्स
उद्धव ठाकरे का झलकता हुआ कॉन्फिडेन्स

सात ख़ूँख़ार भाइयो में सबसे बड़े कात्या बाहुबली माने जाते हैं और उन पर उत्पीड़न और हत्या के कई केस दर्ज है लेकिन कोई सबूत और गवाह ना होने के कारण वो हर बार बाइज़्ज़त बरी हुए हैं। अपने दुश्मनो को कुत्ता बनाकर मारने के शौकीन कात्या जी दंगल और जंगली जानवरो का शौक भी रखते हैं।

फेकिंग न्यूज़ के रिपोर्टर जब कात्या जी के अड्डे पर पहुँचे तो वो एक बड़ी सी कुर्सी पर राजा की तरह बैठे कर अपनें भाइयो के साथ पहलवानी का मुकाबला देख रहे थे मेयर पद के बारे में पूछने पर उन्होने दहाड़ते हुए कहा की, “जंगल का राजा शेर होता है कुत्ता नही! शेर और कुत्ते के मुक़ाबले में शेर जीतता है। और कीड़े-मकोडे से भरे इस शहर मुंबई का शेर कात्या है। तुम्हे कोई शक है क्या?”

जब रिपोर्टर ने कात्या जी से उनपर लगे आरोपो के बारे में पूछा तो कात्या बिगड़ गये और गुस्से के मारे उनके मुँह से झाग निकलने लगा। फिर तो सभी भाई अपने रिपोर्टर को घूर कर देखने लगे। कात्या का पालतू बाघ भी रेपॉर्टर के पीछे आकर गुर्राने लगा। ऐसे में बिना कपड़े पहने खड़े कात्या जी के साले ने रिपोर्टर को जाने का इशारा किया।

अब ये तो राजनीतिक समीकरण और जोड़तोड़ ही बताएगा कि मुंबई के मेयर के पद पर कात्यानंद जी का दावा कितना मजबूत है और बीजेपी के पास इसका क्या उत्तर है।