Wednesday, 18th October, 2017

कॉंग्रेस के चिंतन शिविर से दीपक चरसिया की सीक्रेट रिपोर्ट

21, Jan 2013 By Gaurav Mittal

हाल ही में सम्पन हुए कॉंग्रेस के चिंतन शिविर में कांग्रेस ने बहुत से पत्रकारों को बुलाया और आलिशान पांच सितारा होटल में रखा । पत्रकार काफी खुश थे और चाहते है कि ऐसा शिविर हर साल लगे और दूसरी पार्टिया भी लगाये । पत्रकार लोग अपने होटल के कमरों से ही ट्वीटर और फेसबुक के जरिये खबर दे रहे थे ।

लेकिन हम्हारे प्रिय पत्रकार दीपक चरसिया होटल के कमरे में कहा रहने वाले थे । उन्हें ख़तरा उठाने का शौक़ जो है । कुछ भी करके वो कांग्रेस की एक सीक्रेट मीटींग में घुस गए और पर्दे के पीछे छुप कर अपने माइक्रोमैक्स मोबाइल फ़ोन पे कांग्रेस नेताओं की ये बातचीत रिकॉर्ड कर लाये ।

पढ़िए आगे:

दिग्विजय सिंह – हमें राहुल जी को बड़ी जिम्मेदारी देनी चाहिए ।

सोनिया गाँधी – हमें दिखावा नहीं करना चाहिए और ख़र्चे कम करने चाहिए । अहमद पटेल आप सुन नहीं रहे है, क्या कर रहें है आप ?

अहमद पटेल – मैडम वो चिंतन शिविर के ख़र्चे के बिल देख रहा हूँ !

सोनिया गाँधी – कुछ भी करके ख़र्चे कम करो ।

दिग्विजय सिंह – हमें राहुल जी को बड़ी जिम्मेदारी देनी चाहिए ।

सोनिया गाँधी – क्या दिग्विजय जी? एक ही बात मत बोलो, आप मीडिया में नहीं, चिंतन शिविर में हो !

गुलाम नबी आज़ाद – अभी-अभी NDTV से SMS आया है  कि  नितिन गडकरी फिर से बीजेपी के अध्यक्ष हो सकते है ।

दिग्विजय सिंह – ये लो, रास्ता बिलकुल साफ़ है! अब तो हमें राहुल जी को बड़ी जिम्मेदारी दे ही देनी चाहिए ।

कपिल सिबल – देखिये उसके पहले हमे सोशल मीडिया को देखना होगा, वहाँ राहुल जी का बहुत उपहास उड़ाया जाता है ।

शशि थरूर – हा ट्वीटर पर काफी लोग मुझे भी राहुल-चुटकले भेजते रहते है, मुझे मजबूरी में पढ़ने पड़ते हैं ।

कपिल सिबल – आप रहने दो । कल ही मेरी ट्वीटर के लोगो से बात हुई । अभी तक आपका cattle-class री-ट्वीट हो रहा है और  ट्वीटर वाले एक नया फीचर ला रहे है जिससे आपके पुराने सारे ट्वीट देखे जा सकते है ।

दिग्विजय सिंह – हमें राहुल जी को बड़ी जिम्मेदारी देनी चाहिए ।

सोनिया गाँधी – मनमोहन जी आप कुछ बोलते क्यों नहीं ?

मनमोहन सिंह – मैं क्या बोलूं ? कितनी बार तो में राहुल जी को मंत्री बनने के लिए बोल चुका हूँ । मेरी सुनता ही कौन है?

सोनिया गाँधी – ऐसा नहीं है । आप जब भी बोलते है पूरा देश बड़े ध्यान से सुनता है ।

दिग्विजय सिंह – हमें राहुल जी को बड़ी जिम्मेदारी देनी चाहिए ।

शशि थरूर – भारत में काफ़ी युवा लोग है और युवा लोग शाहरुख़ ख़ान और प्रीती ज़िन्टा को बहुत पसंद करते है । राहुल जी के पास भी शाहरुख़ ख़ान और प्रीती ज़िन्टा जैसे डिम्पल हैं, और यह बात हमे अगले चुनाव में काफी मायने रखेगी !

कपिल सिबल– तुम इतना कैसे सोच लेते हो ?

शशि थरूर – सोचा नहीं, ट्वीटर पे पढ़ा !

दिग्विजय सिंह – एक बार राहुल जी को बड़ी जिम्मेदारी दे दो, हमें और कुछ नहीं चाहिए ।

सोनिया गाँधी – OK! आज से राहुल गाँधी कांग्रेस के उपाध्यक्ष होंगे !

मनमोहन सिंह – ठीक है ।

दिग्विजय सिंह – हिप हिप हुर्रे, हिप हिप हुर्रे, हिप हिप हुर्रे | ओसामा जी अमर रहे । हाफ़िज सईद साहब ज़िन्दाबाद !

गुलाम नबी आज़ाद – मैं NDTV को SMS कर देता हूँ ।

शशि थरूर – मैं ट्वीट कर देता हूँ । ये खबर मिलते ही राहुल जी ट्वीटर पर ट्रेंड करंगे और मीडिया वाले पगला जायेंगे । राजदीप ‘गुड नाईट’ बोल चुका होगा लेकिन फिर से ट्वीट करेगा !

कपिल सिबल – मुझे फेसबुक और ट्वीटर पर नज़र रखनी होगी ।

इसके बाद दीपक चरसिया के मोबाइल की मैमोरी ख़त्म हो गयी ।

दीपक चरसिया ने हमे ये भी बताया कि जब वो बाहर आये तो उन्होंने देखा काफी लोग सड़क पर नाच गा रहे थे और ढोल बजा रहे थे । जब उन्होंने लोगो से पुछा कि क्यों इतना खुश हो ? तो वो बोले राहुल जी हम्हारे नेता है और नेता की तरक्की में ही हमारी और देश की तरक्की है । ये पूछने पर कि वो राहुल जी का स्वागत कैसे करेंगे ? उन्होंने कहा कि वो उन्हें हार से लाद देंगे और फिर नाचने में मस्त हो गए ।

अब पता नहीं वो फूलो वाले हार की हार बात कर रहे थे या चुनाव में मिलने वाली हार की ।