Sunday, 23rd July, 2017

पोलियो ड्यूटी ख़त्म होने के बाद कहीं सरकारी शिक्षक पढ़ाने ना लग जाएं, इसलिए जल्द मिलेगी नई जिम्मेदारी

21, Jun 2016 By Ritesh Sinha

दिल्ली. जब से विश्व सवास्थ्य संगठन (WHO) ने भारत को पोलियो मुक्त घोषित किया है, तब से सभी राज्य सरकारों के सामने एक नई समस्या खड़ी हो गई है। वो यह कि पोलियो पिलाने की ड्यूटी में लगे सारे सरकारी शिक्षकों का क्या किया जाए? सरकार को लगता है कि देश को पोलियो मुक्त कराने के बाद शिक्षक खाली समय पाकर स्कूल में पढ़ाने चले जाएँगे तो उनकी बदनामी होगी।

पोलीयो मुक्त भारत: शिक्षक मुक्त भारत?
पोलीयो मुक्त भारत: शिक्षक मुक्त भारत?

मामले की गंभीरता को देखते हुए सभी राज्य सरकारों ने आपातकालीन बैठक की और बयान जारी कर कहा कि, “हम ऐसा नहीं होने देंगे, शिक्षकों को किसी न किसी ड्यूटी पर जरूर लगाया जाएगा, वैसे भी शिक्षक सर्वे करते हुए, चुनाव ड्यूटी करते हुए, जनगणना करते हुए, और राशन कार्ड बांटते हुए ही अच्छे लगते हैं।”

साथ ही सरकारी प्रवक्ता ने यह भी कहा है कि हमने तुरंत ही कठोर कदम उठाते हुए पांच सीनियर डॉक्टरों  कि एक कमेटी बनाई  है, जो घर-घर जाकर ये पता लगाएगी कि किस नई बीमारी के लिए शिक्षकों की ड्यूटी लगाई जा सकती है।

फिलहाल अंतरिम राहत देते हुए सभी शिक्षकों को गाय के बछड़ा गिनने की ड्यूटी में लगा दिया गया है। इस खबर का “भारतीय शिक्षक संघ” ने स्वागत किया है और कहा है कि, “बछड़ा गिनना तो हमारे बाँए हाथ का खेल है, हम इसे जल्द ही पूरा कर देंगे। साथ ही सरकार को अल्टीमेटम भी दिया है कि शिक्षकों के लिए कोई अच्छा काम जल्दी ही ढूंढा जाए वरना वे स्कूल में जाकर बच्चों को पढ़ाना शुरू कर देंगे।”

सूत्रों के हवाले से खबर आ रही है कि सरकार को अगर कोई भी नया काम शिक्षकों के लिए नहीं मिलता है तो वो किसी भी राज्य में जबरन चुनाव भी करवा सकती है। ताकि शिक्षकों को वहां तैनात किया जा सके।

Topics:#School #Teacher