Sunday, 28th May, 2017

प्रधानममंत्री मोदी और गृह ममंत्री राजनाथ को मिलेगा इस साल सम्मिलित रूप से शान्ति का नोबल

04, May 2017 By Vinay Bhatt

जी हाँ प्रधानमन्त्री नरेन्द्र मोदी और राजनाथ सिंह को सम्मिलित रूप से शांति के लिए नोबल पुरस्कार मिलेगा। पाकिस्तान के बार बार कायरतापूर्ण छद्म हमलों का जबाव कड़ी निन्दा जैसे अहिंसात्मक हथियार से देने के लिए दोनों को इस पुरस्कार के लिए नामित किया गया है।

नरेंद्र मोदी और राजनाथ सिंग अवॉर्ड का जश्न मानते हुए
नरेंद्र मोदी और राजनाथ सिंग अवॉर्ड का जश्न मानते हुए

फेकिगं न्यूज संवाददाता ने खबर की पुष्टि के लिए प्रधानमन्त्री कार्यालय से सम्पर्क किया तो खबर पर प्रतिक्रया देते हुए प्रधानमन्त्री कार्यालय में राज्य मंत्री डा• जितेन्द्र सिंह ने कहा हाँ हमे भी आधिकारिक निमन्त्रण मिल चुका है। आगे बताते हुए उन्होंने बताया कि ये देश गांधी का देश है जिन्हे अहिंसा का पुजारी माना जाता है। अहिंसा के बल पर ही उन्होने देश को आजादी दिलवाई थी।अगर वो भगत सिहं और नेताजी सुभाष चन्द्र बोस के रास्ते पर चलते तो हम आज भी गुलाम होते। मोदी जी उसी अहिंसा के हथियार को आज के हिसाब से परिवर्तित कर कड़ी निन्दा के रूप मे इस्तेमाल कर रहे हैं।

इसी बीच मोदी राजनाथ को नोबल पुरस्कार मिलने की घोषणा के साथ ही देश में राजनीति भी शुरू हो गई है। कांग्रेस ने इसका विरोध करते हुए कहा है कि मोदी से पहले मनमोहन सिंह दावेदार हैं। जिस खामोशी और शान्ति के साथ उन्होंने दस साल तक प्रधानमन्त्री पद सम्भाला था उसके लिए वो शान्ति के नोबल पुरस्कार के सबसे पहले हकदार हैं। फिलहाल राजनीति से इतर देश पुरस्कार समारोह का बेसब्री से इंतजार कर रहा है।