Monday, 18th December, 2017

EC का ऐलान: नितीश को जल्द ही “बदलाव की राजनीति" और "कुर्सी बचाओ" नामक पुरस्कार से सम्मानित किया जायेगा

02, Aug 2017 By Ravi Raj

बदलाव की राजनीति करने  वाले और सदा मुख्यमंत्री पद बचा कर अपने पास रखने वाले अति पूजनीय श्री नीतीश कुमार को बहोत जल्द दो अति विशिस्ट पुरस्कार से सम्मानित किया जायेगा. आज एक प्रेस कॉन्फ्रेंस के दौरान इलेक्शन कमीशन ने ये  सुचना दी है.

The champion of the chair
The champion of the chair

उनका ये भी कहना है, “बदलाव की राजनीति” और “कुर्सी बचाओ” नामक ये दो पुरस्कार अब हर साल साल दिए जायेंगे. हमारे विश्वश्नीये सूत्र ने बताया के हाल में हुए दल बदल, सरकार बदल, इस्तीफ़ा संग पुनर्निर्वाचन, दुश्मन से दोस्ती और संग में शपथ ग्रहण. आदि कार्यकलापों में नितीश जी के जबरदस्त परफॉरमेंस देने के बाद और बहोत की अच्छे ढंग से मध्यावधि चुनाव की गुंजाईश ख़तम करने के बाद. EC ने उन्हें ये दो पुरस्कार देने का फैसला  लिया है.

हमारे संवाददाता से बात करते हुए इलेक्शन कमीशन के एक प्रवक्ता ने कहा, “देखिये, जब भी कोई सरकार गिरती है तो हमपे मानो गाज ही गिर जाती है. हमें फिर से चुनाव की लम्बी प्रक्रिया में लगना पड़ता है. एक तो वैसे ही हमारे कर्मचारी हर पांच साल परेशान होते हैं. उसपर से ये बीच बीच के चुनाव तो और हमारी नींद हराम कर देते हैं. उस रात भी जब हमें ये पता चला के नितीश जी ने इस्तीफ़ा दे दिया है. तो हम बहोत परेशान हो गए. इसपर हमारे एक कर्मचारी ने कहा भी के चिंता मत कीजिये। ये नितीश बाबू हैं. ये सरकार पहले बनाते हैं. इस्तीफ़ा बाद में देते हैं. फिर भी हमें काफी चिंता  थी. पर पिछली बार की तरह इस बार भी नितीश जी ने हमें निराश नहीं किया. और इसीलिए इस साल से हमने दो पुरस्कारों का ही ऐलान कर दिया. जिसके पहले विजेता नितीश बाबू ही होंगे.

हालांकि इस  बात पर राम विलास जी खासे नाराज़ चल रहे हैं. उनका कहना है के “कुर्सी बचाओ” पुरस्कार का अगर कोई सही हकदार इस देश में  तो वो ही हैं.