Monday, 25th September, 2017

न्यूज़ चैनल्स पे डिबेट करने वालों ने करी हड़ताल, बारिश के मौसम में चाय, पकोड़ों की रखी माँग

20, Jun 2017 By नास्त्रेदमस

बारिश का मौसम क्या आया, सभी न्यूज़ चैनल्स की TRP पे पानी फिर गया, सोचा तो था की जोशीले वाद विवादों से लाएंगे बारिश के इस ठन्डे माहौल में गर्माहट, पर मामला उल्टा पड़ गया| प्राइम टाइम पे एक सुई की बहस पे भी एक दूसरे पे तलवार निकालने वाले डिबेटरों में हुई एकता, और वो भी चाय और गरमागरम पकोड़ियों की वजह से|

जी हाँ, पिछले दो दिनों से ठन्डे पड़े न्यूज़ चैनलों की ठंडाई का कारण यही है| डिबेटर्स की मांग बड़ी छोटी सी लगती है, की बारिश के इस माहौल में गप्पे मारते मारते थोड़ी चाय पकौड़ियाँ तो होनी ही चाहिए, इससे बहस करने में कुछ अलग ही मजा आयेगा, पर न्यूज़ चैनलों ने भी इस मौके का फायदा उठाने की कोशिश करी और मामला उलझ गया| न्यूज़ चैनल्स का कहना है की हम पकौड़ियों पे लगायेंगे कंपनियों के स्टीकर, फ्री फ़ोकट में तो हम किसी को पानी भी नहीं पिलाते, चाय पकौड़ी तो दूर की बात है|

ओह मेरे चाई पकोडे
ओह मेरे चाई पकोडे

बस इसी बात पे न्यूज़ चैनल्स और डिबेटर्स के बीच में ठन गई है| डिबेटर्स का कहना है की यह क्या बात हुई अब बहस करते समय हम पकोड़ियां खाये या पकोड़ियों पे से से स्टीकर निकालें, पर न्यूज़ चैनल भी बिना ad के पकौड़ियाँ खिलाने के हक़ में नहीं है|

इन सब के बीच एंकरों की हालत ख़राब है| न्यूज़ चैनल्स ने एंकरों को कहा है की मौके का फायदा उठाओ और स्टूडियो के बहार जा के रिपोर्टिंग करो, बस इसी बात पे ज्यादातर एंकर बीमार पड़ गए है| रविश कुमार मगर डटे हुए है अकेले ही अपने प्राइम टाइम शो पे, स्क्रीन को पकोड़े रंग का करके पिछले दो दिन से बता रहे हैं पकोड़ों का इतिहास, पकोड़े पहली बार कहाँ बनाये गए थे, किसने खाये थे और पकोड़ों से जुड़ी अनोखी बातें जो उन्हें गूगल पे खोज के निकाली है|

वहीँ अर्नब गोस्वामी ने चली चाल, बात करने के बहाने से डिबेटर्स को अपने स्टूडियो बुलाया और पकौड़ियों के लिए हुई इस बात को रिकॉर्ड करके अपने शो पे दिखा डाला, डिबेटर्स इस बात से खासे नाराज़ है, वहीं REPUBLIC TV को इस शो से चैनल की TRP पे काफी फायदा हुआ है|

बाबा रामदेव ने दिया न्यूज़ चैनल्स को एक प्रस्ताव, कहा पतंजलि की शुद्ध हिमालय की जड़ी बूटियों और आटे से बनी पकोड़ियां खिलाइये जिसपे हम तामपत्र से बने स्टीकर चिपकाएंगे जो पकोड़ियों के साथ ही खाये जाने योग्य है| इस प्रस्ताव को देश भक्त न्यूज़ चैनल ज़ी न्यूज़ ने हाथों हाथ स्वीकार किया और कहा की जो पतंजलि की स्वदेशी पकोड़ियां खाने की शर्त मानता है, उसी को हम हमारे डिबेट शो में बुलाएँगे|