Saturday, 25th March, 2017

मध्य प्रदेश की तरह दिल्ली में भी बना "आनंद मंत्रालय"

23, Jan 2017 By khakshar

मध्य प्रदेश. मध्य प्रदेश हमेशा की तरह सुर्खियों में हैं। वैसे तो इस प्रदेश में अजब-गज़ब को कभी नया माना जाता हैं। जब से राज्य सरकार ने “आनंद मंत्रालय” का गठन किया, सब कुछ और आनंदमय हो गया हैं। यहाँ ख़ुशी-ख़ुशी राज्य सरकार की कंपनी पर आयकर विभाग का छापा पड़ता हैं। ख़ुशी-ख़ुशी में रिटायरमेंट के दस मिनट पहले पोलिस इंस्पेक्टर को DSP बना दिया जाता हैं। काल भैरव की नगरी में आनंद के साथ अफसरों के घर में सिर्फ काला धन हीं मिलता हैं। आनंद मंत्रालय में पोस्टिंग के लिए अफसरों में सर-फुट्टवल भी हो जाता हैं। मध्य प्रदेश में सब जगह आनंद ही आनंद का मौसम हैं।

हँसते -हँसाते मंत्री जी
हँसते-हँसाते मंत्री जी

जब से “आनंद मंत्रालय” कि बात दिल्ली के मुख्यमंत्री को पता चली हैं, वो काफ़ी दुखी हैं। दुसरा कोई भी अच्छा करे तो आनंद गायब हो जाता हैं, दिल्ली के मुख्यमंत्री जी का। पड़ोस वाली आंटी भी इतना नहीं जलती औरों के अच्छा करने से, जितना के ये मुख्यमंत्री जी। मुख्यमंत्री जी तो अब बड़े राज्य गोवा या पंजाब की गद्दी संभालेंगे। सूत्र बताते है कि उप-मुख्यमंत्री दिल्ली का कार्यभार संभाल सकते हैं। (अगर CBI के चंगुल से बच गए तो।) सूत्र ये भी बताते है कि मुख्यमंत्री जी ने “आप” उच्च नेताओं की मीटिंग बुलाई थी। सब राज़ी थे कि “आनंद” नाम हिंदूवादी हैं। इसीलिए मन्त्रालय का नाम “हंसी-ख़ुशी” होगा।

इस विभाग के मंत्री के नाम पर भी सर्व-सम्मति बन गयी हैं। हँसी-ख़ुशी मंत्री श्री आशुतोष ही होंगे। कविवर ने बताया, “इनके बोलने-लिखने में जो हास्य हैं कि विरोधी भी ठहाके मार के हँसने लगते हैं।” दिल्ली में इस खबर से ख़ुशी की लहर फैल गई हैं। रोड-रेज, तू जनता नहीं मैं कौन, MCD का फैलाया कूड़ा करकट, मुफ्तिया Wi-Fi, ट्राफिक जाम से उकताये दिल्ली वालों को एक अच्छी खबर मिली।

इधर आशुतोष न जाने क्यों एक शेर सुना गए: “मेहरबान होने में भी कोई ज़फा तेरा; जानते हम फिर भी कुर्बान हँसी -हँसी”