Tuesday, 17th October, 2017

केजरीवाल के ट्वीट से भाजपा में ख़ुशी की लहर, नितीश-लालू ने माँगा जवाब

18, Oct 2015 By devooo

नई दिल्ली। प्रसिद्ध भविष्यवक्ता, फिल्म समीक्षक, राजनेता, और बिना विभाग के केवल मुख्यमंत्री श्रीमान श्रीयुत अरविन्द केजरीवाल के ताज़ातरीन ट्वीट ने भारतीय राजनीति में भूचाल ला दिया है।

अपने नए ट्वीट के ज़रिये उन्होंने नितीश कुमार के विजयी होने की भविष्वाणी कर दी है। साथ ही ये बोला है की मोदी जी चुनाव बुरी तरह हार रहे हैं।

उनके ट्रैक रिकॉर्ड को देखते हुए उनके द्वारा अच्छी बताई फ़िल्में तो लोग वैसे ही देखना बंद कर चुके हैं। चुनाव के नतीजों की भविष्यवाणी में उनका रिकॉर्ड कोई बहुत अच्छा नहीं है। सब जानते हैं की बनारस और DU के चुनावों की भविष्यवाणी इनकी बहुत सफल रही थी।

kejriwal on twitter
इस ट्वीट के बाद हाहाकार मच गया

पर घटना में मोड़ तब आ गया जब नितीश कुमार ने जवाब मांग लिया श्रीमान जी से। बोले, “भाई तू किसकी तरफ है?”

युगपुरुष जी कहीं और ऊँगली करके बोलते कि ‘आपकी तरफ’, इससे पहले ही नितीश जी बोल दिए “भाई तू रहने दे , तेरे से ना हो पायेगा।”

खबर ये भी आ रही है की अन्ना आन्दोलन के समय अरविन्द के घोर विरोधी रहे लालू साहब ने लंच पर अरविन्द सहित कई लोगों को एक गोदाम में बंद करके पूछ लिया “ए सब लोग, कौन है रे तुम में से अरभिंद केजरिवाल?”

कई लोग एक साथ बोले “मैं – मैं!” फाइनली असली वाले ने अपना लंच बॉक्स दिखाते हुए बोला, “अरविन्द मैं हूँ, रायता इधर है!”

लालू बोले, “ई सब का ट्वीट कर रहा है तू?”

केजरी जी उवाचे, “ये तो आपके समर्थन में था जी!”

“नाहीं चाहिए ऐसा समर्थन, बनारस में का हो गया था तोहरे को हैं?” लालू भड़कते हुए बोले।

“ये नया है जी। अब मेरी पार्टी और ज्यादा सशक्त हो गयी है, जनता हमारे साथ जुड़ रही है।” युगपुरुष बोले। फिर भी “बुडबक” कहकर लालू आगे बढ़ लिए।

उधर एक खबर ये भी आ रही है की बंगाल में ममता दीदी ने अरविन्द को अपने समर्थन में कोई भी ट्वीट करने से मना कर दिया है।

इसी महागठबंधन के एक और युवा, कर्मठ और जुझारू नेता राहुल गाँधी से जब इस पर जवाब माँगा गया तो बोले कि “ये सरकार सूट बूट की है!”

लोग बोले ट्वीट पर बोलो तो बोले कि “देश का किसान क्या करेगा ट्वीट करके, क्या करेगा?”

लोगों ने उनको जमकर हिलाया और पूछा “ट्विटर के बारे में आपका क्या ख़याल है?” वो बोले, “मैं युवाओं के बीच जा रहा हूँ वो बोल रहे हैं कि राहुल जी आपके बयानों से मज़ा आ रहा है। पहली बार जनता बोल रही है की नेताओं की बातों से उन्हें मज़ा आ रहा है। मैं ये मज़ा देश के कोने कोने में पहुंचाना चाहता हूँ।”

इसके बाद रिपोर्टर वहां से भाग खड़ा हुआ। कुछ देर पहले उसे अपना पत्रकारिता का सर्टिफिकेट फाड़ते और माइक तोड़ते हुए यमुना ब्रिज पर देखा गया था।

वहीँ इस ट्वीट से भाजपा में ख़ुशी का माहौल है। लगभग पूरी तरह से बिहार चुनावों में अपने चांस खो चुकी पार्टी में फिर से जोश भर गया है। पर जब पत्रकार भाजपा कार्यालय पहुंचे तो किसी प्रवक्ता ने कोई बयान नहीं  दिया। हाँ ठहाकों की आवाजें आ रही थी अन्दर से।

कारण जानने की कोशिश की जा रही थी, इस बीच हरयाणा के मुख्यमंत्री खट्टर साहब ऑफिस से निकलते दिखाई दिए, उसके बाद की कहानी बदल गई।

इधर युगपुरुष ने नया खुलासा कर दिया की उनके हिंदी के ट्वीट बिंग ठीक से ट्रांसलेट नहीं कर रहा है। उन्होंने इसके पीछे क्रमशः अम्बानी, अदानी, मोदी, भाजपा, दिल्ली पुलिस, मार्क जुकरबर्ग, UN प्रेसिडेंट सैम, आदि लोगों के हाथ होने का आरोप लगाया है।

प्रेस कांफ्रेंस में उन्होंने दस्तावेजों का पुलिंदा लहराया की ये सुबूत हैं। कांफ्रेंस के बाद उन्ही कागजों पर सबको समोसे बांटे गए।