Sunday, 22nd October, 2017

डेविड हेडली के साथ टेढ़ी बात

30, Jan 2013 By originalreporter

FN :  श्री श्री… (121 बार) डेविड हेडली जी साहब, आपकरा स्वागत है हमारे प्रोग्राम में..

David : देखिए इतना लंबा नाम मत लीजिए… मुझे इतनी इज्ज़त की आदत नहीं है.. वो तो मैंने तभी गंवा दी धी जब आतंकी बना..

FN : माफ़ कीजिए, हमारे यहां सरकारी लोग आतंकियों को ऐसे ही बुलाते हैं.. तो आप ये बताइए  कि आप 35 साल जेल में कैसे बिताएंगे?

David : न्यूज़ पढ़ कर इस उम्मीद में कि काश इंडिया मेरा extradition करवा ले…

FN : और आप ऐसा क्यूं चाहते हैं?

David : Actually मेरी कसाब से बात हुई थी.. बोल रहा था कि एक टाइम तो बिरयानी fixed है.. और पूरी health facility+security और publicity भी मिलती है…उपर से 40-50 करोड़ रूपए भी ख़र्च होंगे मेरे लिए.. मैंने तो अभी से menu list इंडिया भिजवा दी है.. आप तो मेरी बॉडी देख ही रहे हैं, खाने पीने के मामले में मैं wait नहीं कर सकता! और मैंने कल ही Swades फिल्म देखी है.. तब से India वापस जाने का मन कर रहै है! और अभी तो मेरे नाम की कोई picture भी आ रही है… premier के invitation का wait कर रहा हूं.. फिर तो visa मिल ही जाएगा!!

FN : शायद आपको पता नहीं कि इंडिया ने कसाब का क्या हाल किया…

David :  आप फांसी का बात कर रहे हैं?? देखिए, अब इतने लोगो को plan करके मारा है तो फांसी तो बनती है.. लेकिन उससे पहले मौज हो जाए ति क्या बात है.. वैसै भी मेरे उपर कई countries में cases हैं तो सिर्फ़ इंडिया मुझे फांसी नहीं दे सकता.. वो सिर्फ़ USA कर सकता था, लेकिन वहां भी मैं सरकारी गवाह बन गया और बच गया.. अब बस इंडिया जाना है.. सुना है कि सलमान भाई और संजू बाबा भी अंदर बाहर होते सहते हैं… उनसे मिल कर थोड़ी body building tips भी ले लूंगा!

FN : लेकिन ये सब तो दूर की बाते हैं!

David : बिलकुल नहीं!! मैंने  news में पढ़ा है कि सलमान ख़ुर्शीद साहब पूरी कोशिश करेंगे.. वैसे भी मैंने उनको बोल के रखा है कि मुझे यहां से निकलवा लें तो मैं Harvard में उनकी बहुत तारीफ़ करूंगा.. क्यूंकि वहां की library से मैने books चोरी की है, कभी न कभी जाना होगा..

FN : डेविड हेडली ने बेबाकी से अपनी बात कही, इसी के साथ हम विदा लेते हैं… अगले हफ़्ते किसी और के साथ हाज़िर होंगे टेढ़ी बात में… तब तक बोलते रहिए! धन्यवाद.