Thursday, 23rd November, 2017

ऑस्ट्रेलिया से दूसरा मैच हारने के बाद भारतीय ड्रेसिंग रूम मीटिंग का विवरण

15, Jan 2016 By Sandeep Kadian

ऑस्ट्रेलिया से दूसरा मैच हार कर भारत सिरीज़ मे 0-2 से पिछड़ गई है. इस मैच के बाद भारतीय खिलाड़ी काफ़ी निराश और हतोत्साहित थे. मैच समाप्त होने के बाद ड्रेसिंग रूम मे भारतीय खिलाड़ियों के बीच जो चर्चा हुई, हमने अपने ख़ुफ़िया कैमरे से रेकॉर्ड कर ली. आइए पढ़ें इसी बातचीत की एक झलक.

कोहली: मैने कहा था इस पंडित जी को, रन मत बनाना, हम हार जाएँगे. मैने कहा था कि नहीं, मैने कहा था ना

Ishant apologizing for his dropped catch
Ishant apologizing for his dropped catch

रोहित: ओए काजोल, साँस ले ले. मेरे रनों से जलन हो रही है तुझे, और कुछ नहीं.

कोहली: घंटा जलन, देख नहीं रहा कितनी बार से. जब तू सौ बनाता है, हम हारते हैं. हर बार ज़ीरो नहीं बना सकता तो कम से कम ऑड-इवन वाला कोई फंडा अपना ले. थोड़ा रहम कर.

रोहित: साले मेरे पीछे पड़ा हुआ है. इस बाल की दुकान को पकड़. हाथों मे आए कैच नहीं पकड़े जाते इनसे. वो दिल्ली से है इसलिए उसे कुछ नहीं बोल रहा?

ईशांत: ये मुंबई वालों का इनटोलरेंस निकल ही आता है दिल्ली वालों के खिलाफ. कैच तों सबसे छूट जाते हैं.

धोनी: नहीं यार. ऐसे कैच तो सबसे नहीं छूटते. कुछ तो ख़ास है तुझमे

ईशांत: पर मैनें अपना बदला ले लिया ना फिर मार्श को आउट कर के

धोनी: कब, जब तक उसने हमारे बॉलर्स मे भूसा भर दिया था तब

जडेजा: लेकिन माही रन कम थे, हम कितना रोकते. ऐसी पिच पर चार सौ चाहियें

धोनी: तो भाई साब आपके किसने हाथ बाँधे थे, आख़िरी ओवर मे आप एक एक रन चुराने की कोशिश कर रहे थे. ऐसी चिंदी चोरी करते शरम नहीं आती

जडेजा: चार तो बॉल खेलने को मिली, मैं क्या कर लेता. इस धवन की जगह ओपनर भेज दो मुझे, फिर दिखाता हूँ.

धवन: चुप ओए, मेरी जगह आएगा, तो मैं क्या 7 नंबर पर खेलूँगा?

धोनी: लेकिन तू खेलेगा ही क्यूँ? तू यहाँ खेलने आया भी है या सिर्फ़ ससुराल घूमने आया है?

कोहली: अगले मैच मे इसे निकाल ही दो. रहाने को उपर भेज देंगे. बाकी तो ठीक ही है

धोनी: क्या ठीक है. अपनी बॉलिंग देख. 308 रन बना कर वापिस आए तो सब ऐसे दुख से मिल रहे थे कि हम मैच हार ही चुके हैं. भरोसा देखो लड़कों को कितना है खुद पे

कोहली: अगले मैच मे और किसे लाना है फिर?

धोनी: देखते हैं क्या करें. अभी वो लाउड स्पीकर के साथ मीटिंग है, कोच साहब से भी पूछ लूँ फिर बताता हूँ.

(और फिर धोनी कोच रवि शास्त्री से मिलने निकल जाते हैं और बाकी खिलाड़ी होटल की तरफ कूच करते हैं)