Friday, 24th March, 2017

होली में जानवरों पर रंग फेकने से जानवरो को आया क्रोध, जगह जगह हिंसा का मौहोल

14, Mar 2017 By Tarun Vyas

होली के त्यौहार में एक दूसरे को रंग लगाना आम बात है। मगर भारत में जानवरों पर भी रंग फ़ेक दिया जाता है जिस कारण उनको अनेक स्किन से सम्बंधित बीमारियां हो जाती है।

हर बार की तरह बड़े लोग व्हाट्सअप पर तो ये डालते रहते है कि जानवरो पर रंग नहीं फेकना है मगर अपने खुद के बच्चों को ये बात नहीं कहते।

अब नही छोड़ेंगे किसी को.. माँ कसम!
अब नही छोड़ेंगे किसी को.. माँ कसम!

पिछली बार की तरह इस बार भी जानवरो पर रंग फेका गया। इस स्थिति से परेशान होकर सभी जानवरो ने बड़ी मीटिंग बुला ये फैसला कर दिया की अब बदला लेंगे। बाप का, दादा का, भाई का, पड़ोस वाले कुत्ते का, हैण्डपम्प के पास वाली गाय का सबका बदला लेगा रे तेरे ये जानवर।

जानवरो ने आज शाम तक हिंसक रूप धारण कर लाया है। जगह जगज सरकार ने आर्मी लगाई है। पुरे देश में जगज जगज धारा144 लगी हुई है जिसमे 2 से अधिक जानवर एक जगह इकठ्ठे नहीं हो सकते।

जानवरो ने मांग रखी है कि उनको उनके नुकसान का मुआवजा दिया जाए और जिन जिन लोगो ने उनके साथ ये काम किया है उनको कड़ी से कड़ी सजा दी जाये।

अब सरकार के भी हाथ पैर फूल गए है क्योंकि ऐसे अपराध करने वालो की संख्या बहुत ज्यादा है। अब देखना ये है कि क्या आने वाले दिनों में जानवरों को इंसाफ मिल पायेगा ? क्या ये हिंसा रुकेगी?

Topics:#Holi