Saturday, 29th April, 2017

होली की तारीख ठीक से याद न रहने पर गब्बर सिंह ने भेजा रामगढ़ निवासीयों को एडवांस टैक्स का नोटिस

22, Mar 2016 By sameer mahawar

गांव रामगढ़. हर साल की तरह इस साल भी होली की तारीख को लेकर भुन्दलाए हुए गब्बर सिंह ने अपनी समयोचित रेवेनुए कलेक्शन के हेतु एक अहम कदम उठाते हुए सभी रामगढ़ निवासियों को खुदबखुद होली से पहले ही टैक्स जमा कराने का फरमान जारी किया है।

“कालिया, अड्वान्स टॅक्स को और अड्वान्स में मिल जाए तो कैसा रहेगा?”

गब्बर सिंह, जो आज तक हर साल होली के त्यौहार पर टैक्स के रूप में लोगो से पैसा ऐंठते हुए आए है जिसकी गिनती स्विस बैंक में जमा काले धन से भी कई अधिक बताई जा रही है, अपनी बार-बार भूलने की बीमारी का यह अनोखा समाधान खुद ही लेकर आए हैं।

यह अहम फैसला रामगढ़ डाकू समिति की एक आपातकालीन बैठक मे लिया गया जहाँ कालिया के इलावा सभी डाकू मौजूद थे।

साम्भा, गब्बर सिंह का दाया हाथ और बाया पाँव, ने बैठक में हुई चर्चा का विवरण देते हुए कहा,”सरकार को हर साल बताना पड़ता है की होली कब है और कब नही। कभी छोटी होली का पूछते हैं और कभी बड़ी होली का। इनके तारीखों के कारण हमे पूरा पंचांग का कैलेंडर याद रखना पड़ता है। और तो और, पिछले साल होली गुज़र जाने के बाद सरकार को गाँव वालो से कर वसूलना याद आया जिस्से हमे लगभग एक महीने के बयाज् से हाथ धोना पड़ा। लेकिन अब इस अड्वान्स टैक्स के फरमान से लोग खुदबखुद टैक्स जमा कराते रहेंगे और हमे मैनुअल रिकवरी की चिंता भी नही खायेगी।”

हमने कालिया, जो पहाड़ की चोटी पर बेठा अपनी बंदूक की नली साफ कर रहा था, से भी पूछताछ करने की कोशिश की वो बैठक में शामिल क्यों नही हुए पर उन्होंने मुँह में गुठके के रूप में चुप्पी साधी रखी।

पुछताछ करने पर पता चला की कालिया अपने बच्चों को बंदूक वाली पिचकारी और हथगोला जैसे दिखने वाले पानी भरकर दुसरो पर फोड़ने वाले गुब्बारे दिलाने गया था। बताया जा रहा है की यह पहली बार हुआ है की कालिया ने गोला-बारूद की जगह कुछ ओर खरीदा हो।