Monday, 23rd October, 2017

हवाई यातायात ध्वस्त करने गए जाट रनवे पर कोई भी पटरी न पाकर बिना कुछ उखाड़े ही लौटे वापस

22, Feb 2016 By Pagla Ghoda

नई दिल्ली एयरपोर्ट: हवाई यातायात को पूरी तरह से ध्वस्त कर देने का मन बनाकर करीब पांच सौ रोबीले जाटों की एक रंगीली टोली जिसे “उखाड़ दस्ते” के नाम से जाना जाता है, लठ्ठ, पत्थर, सलिया इत्यादि लेकर दिल्ली एयरपोर्ट पहुँच तो गयी, परन्तु वहां रनवे पर किसी भी प्रकार की कोई भी पटरी जैसी चीज़ न पाने पर पूरी टोली को निराश वापिस लौटना पड़ा|

एरपोर्ट रनवे को चक्का-जाम करने की कोशिश में
एयरपोर्ट रनवे को चक्का-जाम करने की कोशिश में

उखाड़-दस्ते के प्रमुख लीडर तूफ़ान सिंह “उखाड़ी” ने मूंछों पर ताव देते हुए मीडिया को जानकारी दी, “देक्खो जी ऐसा है, रेलवे यातायात तो हमने पहले ही ध्वस्त कर दिया है| रेल पटरियों के पुर्जे पुर्जे खोल दिए हैं पूरे हरयाणा में| अब तो जी बारी है हवाई यातायात की, सो हम तो गे थे जी ध्वस्त करने हवाई जहाज़ की पटरियां| हमने वहां पे सबसे पुछा के भाई ये जहाज कहाँ से उड़े है? तो लोग बोले के रनवे पे, सो हम रनवे पे पहुंचे| लेकिन ईब रनवे पे कुछ था ही नहीं, सो पूरी टोली लौट ली वापिस| एक दो लाइट लगी थी वां पे, पर सो भी हमने जी तरस खाके छोड़ दी| लगता है हमारी कोई और टोली पहले ही हवाई जहाज़ की पटरियां उखाड़ के लेगई| हमसे बाजी मार गए लौंडे|”

उखाड़ दस्ते की जूनियर विंग के लीडर, बारह वर्षीय चक्कु चौधरी ने भी इस घटना पे खेद व्यक्त किया| उन्होंने कहा, “मैंने तो बोला था सब बड़े लोगों को, के हवाई जहाज़ तो हवा में उड़ जावे है| उसको रोकना है तो रनवे से कुछ न उखड़ेगा| अगर हवाई जहाज़ को रोकना है न भाई साहब तो कई हज़ार पतंगें उड़ाओ रनवे के पास, प्लेन उसी में फंस के रह जायेगा| एयरपोर्ट पे हो जायेगा जी चक्का जाम| लेकिन किसी ने मेरी बात सुनी ही न| छोटा भीम का एपिसोड बीच में आधा छोड़ के आया था जी, अब उसकी स्टोरी मुझे कौन बताएगा? इनका फूफा?”

हालाँकि जाटों के हवाई यातायात रोकने की ये कोशिश नाकाम रही, पर उखाड़ दस्ते के कई लोगो ने अभी हार नहीं मानी है| सूत्रों के अनुसार कुछ आरक्षणवादी जाट दस्ते अगली बार हवाई जहाज़ की पंखों पर लटक कर उन्हें उड़ने से रोकने का प्लान बना रहे हैं|