Thursday, 19th October, 2017

दिल्ली मे एक 11 साल के बालक ने किया एक 48 वर्षीय महिला को आंटी बुलाने का जघन्य अपराध, महिला ने किया मानहानि का दावा

28, Oct 2015 By chachachaudhary

दिल्ली. ये दिल दहला देने वाली घटना दिल्ली के मोती नगर इलाक़े मे हुई। कल रात से ही उस इलाक़े मे धारा 144 लगा दी गयी है ताक़ि माहौल और ना बिगड़े। फेकिन्ग न्यूज़ की तहकीकात के मुताबिक ये घटना मोती नगर मे ही रहने वाली महिला पैम खोसला के साथ हुई। पैम खोसला जी पहले परमिंदर के नाम से जानी जाती थी, फिर उनकी पहली किटी पार्टी के बाद उन्होने अपना नाम पामेला कर दिया और फिर 1000 किटी पार्टी पूरी होने के बाद से वो पैम के नाम से जानी जाती है।

एंग्री पम्मी आंटी.. मतलब की पम्मी दीदी
एंग्री पैम आंटी.. मतलब की पैम दीदी

घर वालों और पड़ोसियो से पूछ ताछ से पता चला की परसों शाम से ही पैम जी काफ़ी थकी हुई थी। सुबह नौ बजे उठ कर उन्होने चीज़ पराठे और ड्राइ फ्रूट आइस क्रीम का नाश्ता किया और फिर 2 घंटे से भी कम समय में किसी तरह तैयार हो के जिम पहुँच गयी। जिम मे उन्होने 3 मिनिट तक उन्होने जी तोड़ मेहनत की। फिर ट्रेनर ने जब उनसे कहा की ‘ऐसे तो उनका वजन नही कम होगा’ तब उन्होने ट्रेनर को खूब खरी खोटी सुनाई। ट्रेनर को पूरी तरह से धमका दिया और ये सख़्त हिदायत दे दी की ‘कसरत की दौरान अगर ग़लती से पसीना निकाला और उनका मेक उप खराब हुआ तो उसकी नौकरी रहेगी नही। जिम मे तकरीबन पैम जी ने करीब ३० मिनिट बिताए जिसमे उन्होने ३ मिनिट कसरत की और २७ मिनिट ट्रेनर को धमकाया।

फिर पैम जी ने कसरत की कमज़ोरी की वजह से कारोल बाग जा के सिर्फ़ 4 प्लेट छोले भठूरे और आधा किलो गुलाब जामुन खाए। इसके बाद वो सरोजिनी नगर के मार्केट मे चली गयी। करोल बाग और सरोजिनी नगर के मार्केट मे उनकी बड़ी घाक है,एक भी डिज़ाइनर पीस उनकी ढाई इंच की नकली आईलैेश से बच नही सकता। वहाँ से उन्होने कुछ डिज़ाइनर कपड़े खरीदे और अगले चौराहे पर गुल्लू का इंतेज़ार कर करने लगी। गुल्लु उनका लेबल सप्लाइयर है। गुल्लु उनको सारे डिज़ाइनर लेबल उपलब्ध करता है। उनकी पुरानी सीएलओ कार मे जो मर्सिडीस का लोगो लगा है वो भी गुल्लू ने ही दिया था। पैम जी की एक और विशेषता है, वो कपड़ो पर लगाया हुआ डिज़ाइनर लेबल अंदर की तरफ नही बल्कि बाहर की तरफ लगाती है। अगर लेबल दिख नही रहा तो लगाने का क्या फायदा।

गुल्लू के इंतेज़ार मे उन्होने मोती नगर के पहले वाली सिग्नल पे गाड़ी रोक दी। ट्रफ़िक लाइट हरी होने के बाद भी उन्होने गाड़ी आगे नही बढ़ाई। उधर ट्रॅफिक के हवलदार ने पैम जी का रौद्र रूप पिछले हफ्ते देखा था जब किसी की गाड़ी उनकी गाड़ी की आगे खराब हो गयी थी। ट्रफ़िक वाले भैया ने फेकिंग न्यूज़ को बताया था की पैम जी साक्षात डॉली बिंद्रा का रूप लग रही थी। तब से ट्रॅफिक वाले भैया की तो हिम्मत नही हुई पैम जी को कुछ बोलने की।

बबलू ठीक उनके पीछे वाली गाडी मे था। बबलू को खेलने जाने मे देर हो रही थी तो, बबलू अपनी गाड़ी से उतर के पैम जी की गाड़ी के पास पहुँच गया। पैम जी तब अपना लिपस्टिक ठीक करने मे व्यस्त थी। जब उनका लिपस्टिक का ज़रूरी काम पूरा हो गया तब उन्होने गाड़ी का शीशा नीचा किया और गुस्से से उसे घूरा। उसके बाद बबलू ने बोला, “आंटी आप अपनी गाड़ी आगे ले लिजिये”। फिर क्या था ‘आंटी’ शब्द सुनते ही पाम जी गुस्से से आग बाबूला हो गयी और बबलू को दिल्ली की आज तक की सबसे ख़तरनाक धमकी दी की, ”तू जानता नही की मैं कौन हू और देख मैं तेरा क्या हाल करती हू’। और वो गुस्से और हाइ ब्लड प्रेशर की वजह से बेहोश हो गयी। बाद मे जब भीड़ जमा हुई तब लोग उन्हे अस्पताल ले गये।

अस्पताल मे जब फेकिंग न्यूज़ के संवाददाता उधर पहुँचे तो उन्हे बताया गया की अभी ब्यूटी पार्लर वाले अंदर है, थोड़ी देर मे पैम जी तैयार हो के प्रेस कॉन्फ्रेंस देंगी। हमारे फेकिंग न्यूज़ की संवाददाता की अभी पैम जी से बात नही हो पाई है पर सुनने मे आया है की पैम जी ने बबलू के ऐसे जघन्य अपराध के लिए मानहानि का दावा किया है और हर्जाने मे 12 टन लिपस्टिक और 18 टन आइ लाइनेर की माँग की है। दिल्ली की सारी महिलाओ मे दहशत फैल गयी है के कही ऐसा हादसा उनके साथ ना हो जाए।