Monday, 23rd October, 2017

दिल्ली में बनेगा सबूतों का म्यूजियम, आम आदमी पार्टी ने कराई आठ कमरों की एडवांस बुकिंग

29, Apr 2016 By Ritesh Sinha

दिल्ली: आजकल असुरक्षा की भावना ने हर इंसान के मन में घर कर लिया है। कोई अपने पैसे चोरी हो जाने से डरता है तो कोई अपने कार के चोरी हो जाने से। लेकिन दिल्ली में इन दिनों सबूतों की चोरी हो जाने का डर सबसे ज्यादा हो गया है। इसी समस्या को ध्यान रखकर केंद्र सरकार ने दिल्ली में 100 कमरों का सबूत म्यूजियम बनाने की घोषणा की है। आम आदमी पार्टी ने इसका खुलकर समर्थन किया है।

“एक-एक कमरे का हिसाब लिया जाएगा”

आप पार्टी के प्रवक्ता ने बताया कि, “हमारे पास तक़रीबन 500 नेताओं के खिलाफ सबूत हैं जिसे हम फिलहाल किराये के गोदाम में डंप करके रखते हैं। लेकिन हमेशा हमें इनके चोरी हो जाने का खतरा बना रहता है, अब राष्ट्रीय सबूत म्यूजियम बन जाने से हम निश्चिन्त हो जाएँगे। फिलहाल हम उन सबूतों के रखरखाव में हर महीने दस करोड़ रूपए खर्च कर रहे हैं, इस म्यूजियम के बन जाने से हमारे पैसे भी बच जाएँगे।”

आम आदमी पार्टी के प्रवक्ता ने आगे बताया कि हमने पहले ही आठ कमरों की बुकिंग कर ली है क्योंकि हमारे पास सबसे ज्यादा सबूत हैं। इस पर सुब्रमण्यम स्वामी ने आपत्ति प्रकट की है और कहा है कि उन्हें भी कम से कम 12 कमरें दिए जाएँ, जिसमें वे नेशनल हेराल्ड केस और चॉपर डील के सबूत रख सकें।

इस पर फिर आप पार्टी के सुप्रीमो अरविन्द केजरीवाल ने आपत्ति प्रकट की और ट्वीट करके कहा कि सुब्रमण्यम स्वामी को अपनी सीमा में रहना चाहिए वरना उसके खिलाफ भी सबूत हमारे पास गोदाम में पड़े हुए हैं। अरविन्द केजरीवाल ने कहा कि सुब्रमन्यम स्वामी तो इस दुनिया में अभी-अभी आए हैं जबकि आम आदमी पार्टी पिछले एक हज़ार साल से सबूतों की दुनिया के बेताज बादशाह है, इसलिए उन्हें सीनियर से सीख लेनी चाहिए। दिल्ली के मुख्यमंत्री ने मांग की है कि सुब्रमण्यम स्वामी माफ़ी मांगें नहीं तो उन्हें ट्विटर पर ट्रेंड करा दिया जाएगा।

जानकारों का मानना है कि आम आदमी पार्टी के पास अकबर,बीरबल,जनरल डायर,औरंगजेब,जयचंद और माउंटबेटन के खिलाफ भी सबूत हैं जो फिलहाल एयर कंडीशनर गोदाम में आराम फरमा रहे हैं।