Thursday, 14th December, 2017

मैच से पहले कप्तान धोनी और पिच क्युरेटर के बीच फोन पर बात

11, Jan 2013 By Anil Sharma

राजकोट में होने वाले पहले ODI से पहले भारतीय कप्तान धोनी और पिच क्युरेटर के बीच फोन पर कुछ खास बातचीत हुई जिससे साफ जाहिर है कि कप्तान धोनी जित के लिये कितने आतुर हैं, आप भी जानिये क्या खास बात हुई दोनों के बीचः

धोनीः हेलो। हेलो। अबे बोल भी, कहीं गलती से मनमोहन को तो कॉल नहीं लग गया, हेलो?

क्युरेटरः हाँ धोनी सर, कहिये क्या सेवा करुं?

धोनीः सेवा क्या घण्टा करेगा, जवाब देने मे तो तु विनय कुमार से भी स्लो है। अच्छा सुन, पिच तो हमारे फेवर में बनायी है ना?

क्युरेटरः अरे हाँ सर, बिल्कुल। Batting-friendly पिच बनायी है आपके लिये सर।

धोनीः Batting-friendly? यार बल्लेबाज हैं कहां अपने पास? अभी टीम का सबसे In-form बल्लेबाज मैं खुद हूं, अब तु खुद समझ सकता है कि हालात कितने खराब हैं बैटिंग के।

क्युरेटरः ओहो! सर, कोई बात नही, Bowling-friendly कर देते हैं।

धोनीः अबे पागल है क्या, बालिंग तो हमारी कमजोर कड़ी है, सारी दुनिया जानती है, तुझे नही पता।

क्युरेटरः वो भी सही है सर, तो सर Turning track बना देते हैं?

धोनीः अबे मरवायेगा क्या, पिछली बार Turning track पे हमारा क्या हाल हुआ था याद नहीं क्या? हमारे सरदार की बाल Turn नही होती इसका मतलब ये नही की उनके सरदार की भी नही होगी।

क्युरेटरः सॉरी सर, Bouncy pitch बना दें सर?

धोनीः तु तो देश कि नाक कटवा कर रहेगा, हमारे fast bowlers कि गेंदों से ज्यादा तो मेरे चेक बाउन्स होते हैं।

क्युरेटरः धत् तेरे की, तो सर आप ही बता दो कैसी पिच बनाऊं?

धोनीः अरे, ऐैसी पिच बना जिस पर जीत हमारी हो।

क्युरेटरः ये तो इम्पॉसिबल लगता है सर, आप डंकन फ्लेचर से सलाह क्युं नही लेते?

धोनीः कौन डंकन फ्लेचर?

क्युरेटरः छोडो सर, कुछ और ही सोच लो आप और मुझे बख्श दो।

धोनीः ओके। (साला इस बार राजीव शुक्ला को Presentation ceremony पे भेज दूंगा, आखिर उसे बुरी खबरें सुनाने के लिये ही रख रखा है BCCI ने)