Monday, 1st May, 2017

चुनाव आयोग ने आचारसंहिता के दौरान चुटकुलों पर भी रोक लगाई

02, Apr 2017 By GADHEKI DUM

हाल ही में चुनाव आयोग ने चुनाव आचारसंहिता के दौरान ज्योतिषियों द्वारा की जाने वाली भविष्यवाणियों एवं राजनैतिक पंडितों द्वारा किसी भी तरह के दावे करने पर प्रतिबन्ध लगाया। ऐसा करने पर कड़ी करवाई की धमकी भी दी है। देर रात एक विज्ञप्ति जारी करके मुख्य चुनाव आयुक्त श्री नसीम ज़ैदी ने चुटकुलों पर भी प्रतिबन्ध लगाने का ऐलान किया है।

पता नहीं अब राहुल गाँधी अपना समय कैसे काटेंगे!
पता नहीं अब राहुल गाँधी अपना समय कैसे काटेंगे!

आयोग का कहना है की किसी नेता या पार्टी पर चुटकुले बनाने से उसकी इमेज अकारण खराब होती है तथा मतदाता भ्रमित होते हैं, जिससे वे अपने विवेक का सही उपयोग नहीं कर पाते एवं निष्पक्ष चुनाव कराने के हमारे प्रयास धरे के धरे रह जाते हैं। आयोग का कहना है की पंजाब में आम आदमी पार्टी तथा उत्तर प्रदेश में कोंग्रेस एवं बहुजन समाज पार्टी की हार की वजह EVM नहीं बल्कि उस पार्टी के नेताओं पर बने चुटकुले हैं।

उधर आम आदमी पार्टी एवं कोंग्रेस ने चुनाव आयोग के इस घोषणा का स्वागत किया है। वहीँ भाजपा इस नए ऐलान से परेशान है तथा इस तुगलकी फरमान को सर्वोच्च न्यायालय में चुनौती देने की सोच रही है। बहुजन समाज पार्टी का कहना है की EVM की गड़बड़ी को ढकने के लिए चुनाव आयोग ने यह नया पैतरा निकाला है। इसके विरोध में हम चुनाव आयोग का पुतला फूकेंगे।

सबसे अधिक असर तो उन वेब साइटों पर पड़ने वाली हैं, जिनकी रोजी-रोटी नेताओं पर चुटकुले बना-बनाकर चलती है। फेकिंग न्यूज़ इस कड़ी में सबसे अधिक आहत होने वाला अख़बार रहेगा ऐसा अनुमान है। अगर भाजपा इस फरमान को चुनौती नहीं देती, तो फेकिंग न्यूज़ जरूर देगा ऐसा भी सूत्रों का कहना है। हालां की न्यायलय में चुनौती देने के लिए फ़ेकिंग न्यूज़ के पास वकीलों की फीस के लिए फूटी कौड़ी भी नहीं है। फिर भी इसी बहाने किसी अमीर वेब साइट को बहला-फुसला करके अपना काम बनाने की फ़िराक में कुछ पागल पत्रकार लगे हुए हैं।

जैसे ही हमें इस विषय में कोई ताजा जानकारी मिलेगी, हम आपसे शेयर करेंगे।