Thursday, 19th October, 2017

छात्राओं पर अश्लील टिप्पणी करते गुंडे का मीडिया ने किया बचाव, कहा विचारों की अभिव्यक्ति जुर्म नहीं

18, Feb 2016 By Pagla Ghoda

नई दिल्ली: शहर के एक गर्ल्स कॉलेज के सामने लड़कियों पर अश्लील टिप्पणियां करने के जुर्म में गिरफ्तार किये गए गुंडे बब्बन भोकरजी के समर्थन में कई बड़े न्यूज़ चैनल सामने आये हैं| इस हादसे को एक मासूम की गिरफतारी बताते हुए न्यूज़ चैनलों नें दिल्ली पुलिस एवं मोदी सरकार की कड़ी भर्त्स्ना की है| कुछ न्यूज़ चैनल्स ने तो महाराष्ट्र पुलिस को भी लताड़ा है क्योंकि बब्बन यही छेड़खानी और बदसलूकी का काम पहले मुंबई के एक कॉलेज के सामने किया करता था, और वहां से भी इस मासूम को तथाकथित तौर पर भगा दिया गया था|

फ्रीडम ऑफ स्पीच के साथ अपना फ्रीडम ऑफ एक्सप्रेशन दिखाते हुए मासूम लड़कें
फ्रीडम ऑफ स्पीच के साथ अपना फ्रीडम ऑफ एक्सप्रेशन दिखाते हुए मासूम लड़कें

जाने माने न्यूज़ एंकर प्रवेश भट ने इस मामले की कड़े शब्दों में निंदा करते हुए कहा, “ये कहना मुश्किल है के कौन सही है और कौन गलत, लेकिन एक मासूम की अभिव्यक्ति की स्वतंत्रता छीन लेना ठीक नहीं| अगर लड़कियों को उसकी बाते ठीक नहीं लगती तो वो अपने कान बंद कर लें, लेकिन अगर उसे बोलने से रोक गया तो ये देश एक तानाशाही से कहीं कम नहीं रह जायेगा| कुछ लोग तो कह रहे हैं के, ये हर प्रकार के वैचारिक स्वतंत्रता का गला घोंठने वाली बात हो जाएगी| जोकि मैं मानता हूँ के कुछ हद्द तक सही भी है| हमारी सरकार से मांग है के उसे न केवल छोड़ा जाए, बल्कि पुलिस ज़्यादती के ऐवज़ में पर्याप्त मुआवज़ा भी दिया जाए| और यही नहीं आगे से उसे किसी भी प्रकार की वैचारिक अभिव्यक्ति से न रोक जाए|”

जाने माने ब्लॉगर और ट्विटर सेलिब्रिटी सोम परवर्ट्स ने भी इस गिरफ्तारी पर गहरा दुःख व्यक्त किया है, उन्होंने कहा, “विचारों के आधार पर एक मासूम टिप्पणीबाज़ को गिरफ्तार कर लेना काफी दुखद है| विचारों का कर्मों से कोई लेना देना नहीं है| उसने किसी लड़की को छेड़ा तो नहीं, केवल अपने मैं के अंदर के मासूम विचारों को बाहर निकला है| अब उसमें क्या गलती है भाई?”

बब्बन नें स्वयं इस मामले पर ज़्यादा बात करने से इंकार करते हुए कहा, “अपन अगर किसी लेडीज लोग की ख़ूबसूरती की तारीफ करता है तो उसमे क्या गलत है| अभी किसी का फिगर अछा है तो अपने दिमाग में आएगा तो अपन साफ़ बोल देता है| खैर अपन को देश के मीडिया पे पूरा भरोसा है| मीडिया ट्रायल में अपन बरी है तो दूसरा कोर्ट भी अपने को बरी करीच देगा|”

ये मामला आगे क्या रुख लेगा ये तो समय ही बताएगा पर विपक्ष ने भी इस मुद्दे पर राजनीती गर्माते हुए, दिल्ली पुलिस कमिश्नर, नरेंद्र मोदी के पूरे कैबिनेट और यहाँ तक के NDA के सभी मुख्यमंत्रियों के तुरंत इस्तीफे की मांग की है|