Monday, 20th November, 2017

भारतीय इतिहासकार का दावा: बौद्ध नहीं गाँधीवादी थे सम्राट अशोक

04, Feb 2017 By kvimal7

फे.न्यू. ब्यू, Feb 03, 2017. सुप्रसिद्ध इतिहासकार संजय लीला भंसाली ने दावा किया है कि महान सम्राट अशोक के जीवन दर्शन में आए परिवर्तन के पीछे गाँधीवाद था। अबतक भारतीय समाज में यह भ्रांति थी कि कलिंग युद्ध के बाद अशोक ने बौद्ध जीवन अपना लिया था। संजय इस विषय पर जल्द ही एक फिल्म की शूटिंग शुरू करने वाले हैं। फिल्म में सुशांत सिंह (राजपूत) सम्राट अशोक व महेंद्र सिंह धौनी की दोहरी भूमिका में होंगे। इस फिल्म में गाँधी के किरदार को निभाने के लिए हृतिक रोशन से बात चल रही है।

भंसाली व अशोक (स्टीव जॉब्स की पिक टीआरपी बढ़ाने के लिये डाली जा रही है, चाहें तो इग्नोर करें)
भंसाली व अशोक (स्टीव जॉब्स की पिक टीआरपी बढ़ाने के लिये डाली जा रही है, चाहें तो इग्नोर करें)

क्या ये इतिहास सही है, मुद्दे पर अधिक जानकारी के लिए हमारे संवाददाता भटूरे लाल ने देश के अन्य इतिहासकारों रोमिला थापर व इरफ़ान हबीब से बात की। रोमिला ने कहा कि देश में अभिव्यक्ति की स्वतंत्रता के आधार पर हरेक नागरिक अपने से अपना इतिहास लिखने को स्वतंत्र है। वहीं इरफ़ान हबीब ने भटूरे लाल को बताया कि भंसाली ने 1+1=2 Theorem से सिद्ध किया है कि सम्राट अशोक गाँधीवादी ही था, तो इसमें कोई भी विवाद नहीं होना चाहिए।

हमारे संवाददाता ने अंततः भंसाली से सम्पर्क कर ही लिया। उन्होंने श्री भंसाली से पूछा कि क्या वे फिल्म में अशोक एक स्वतंत्रता सेनानी दिखा रहे हैं जो देश को अंग्रेजों से आजाद करा रहे हैं। भड़कते हुए भंसाली ने कहा, “अंग्रेज? वो कौन थे बे? तू फेकिंग न्यूज़ में काम करता है और तुझे पता नहीं कि एक हफ्ते पहले ही मैंने 5+5=10 थ्योरी से प्रूव किया था कि अंग्रेज कभी भारत आए ही नहीं। नो मोर कमेन्ट्स।”

अब दर्शकों को इन्तज़ार करना होगा २०१८ का जब ये फ़िल्म उनके नज़दीकी सिनेमाघरों में प्रदर्शित होगी. फ़िल्म के अन्य कलाकारों में जॉन अब्राहम मेहमान भूमिका में होंगे जो कि महान फ़ुटबॉलर क्रिस्टियानो रोनैल्डो के रोल को पोर्ट्रे करते दिखेंगे.