Tuesday, 26th September, 2017

बढ़ी हुई सैलरी से भी नाखुश हैं आशुतोष, केजरीवाल से की "रायता फैलाओ" भत्ते की मांग

28, Dec 2015 By Pagla Ghoda

नई दिल्ली: बढ़ी हुई सैलरी से केजरीवाल के प्रमुख सिपहसालार आशुतोष कुछ खासे खुश नहीं हैं| आशु जिन्हे प्यार से सोशल मीडिया में आंसूतोष भी कहा जाता है उनके अनुसार पार्टी की प्रमुख नेताओं को “रायता फैलाओ” भत्ता भी दिया जाना चाहिए|

“एक बार रायता भत्ता लागू होने दो, फिर देखते है की कैसे समेटोगे ‘आपी’ रायता”: आशुतोष उनकी जानी-दुश्मन दिल्ली पोलीस को चेतावनी देते हुए

एक प्रेस कांफ्रेंस में मीडिया के प्रश्नो को सुनते हुए आंसूतोष पहले तो काफी देर तक भरे बैठे रहे, फिर एकदम से फुट पड़े, “देखिये, जनता की सेवा करे हम, और मेवा खाए जेटली और केतली| हमें कब खाने को मिलेगा? आखिर हम भी इंसान हैं, हमारा भी दिल है, हमारा भी मन करता है ऑडी गाडी में घूमने का, बीवी संग न्यूज़ीलैंड जाने का| हमें कब मिलेगा ये सब?” ये कहते कहते आंसूतोष की आँखें नम हो गयीं|

आँखों के आंसूं पोछते हुए आंसूतोष आगे बोले, “वैसे तो आपने मुझे हमेशा हँसते हुए ही देखा होगा, सिवाए एक उस दिन के जिस दिन मैं काफी रो दिया था टीवी पे| खैर तो मैं अक्सर ज़्यादातर हँसता ही रहता हूँ| लेकिन एक बात बता दूँ, जो लोग हमेशा हँसते है न वो कभी कभी छिपकर बहुत रोते हैं| और मैं अब और रोना नहीं चाहता, न ही टीवी पर न ही छिपकर| इसलिए मेरी मांग है के, हमारे बढे हुए वेतन के साथ हमें परफॉरमेंस भत्ता भी मिले, यानी के इन्सेन्टिव्स| जो जितना रायता फैलाये … मेरा मतलब है पार्टी का नाम फैलाये, वो उसी हिसाब से बढ़ा हुआ वेतन पाये| अगर मेरी इस मांग को नहीं माना गया तो मैं केजरीवाल जी पर “आप” के अंदरूनी लोकपाल के तहत मुक़दमा कर दूंगा|”

जहाँ आंसूतोष “रायता” भत्ते की मांग को सही ठहरा रहे हैं वहीँ केजरीवाल ने इस मांग को सिरे से खारिज कर दिया है| केजरीवाल ने इस मामले पे साफ़ किया – “यार आज की डेट में हम देश के मुद्दों को लेके बहुत बिजी हैं, उसके बाद टाइम मिले तो दिल्ली के मुद्दों पे ध्यान देंगे, और उसके बाद भी कुछ टाइम मिला तो अब पार्टी के मुद्दों पर ध्यान जायेगा| तो मैं यही कहूँगा के सैलरी बढ़वा दी है न उसी में खुश रहो सब| और मैं ये भी क्लियर कर दूँ के 2019 में जब हम नेशनल इलेक्शन जीतेंगे तो सभी का वेतन अपने आप बढ़ा दिया जायेगा|”