Monday, 21st August, 2017

बड़ा भयंकर जीव है आया, देखो केजरीवाल

21, Jan 2014 By Babasilla

बड़ा भयंकर जीव है आया, देखो केजरीवाल | नाच-नाचता सबको कैसा देखो इसका अद्भुत-कमाल || धरना देता, सत्य बोलता मानुष कैसा विचित्र-विकराल | बड़ा भयंकर जीव है आया, देखो केजरीवाल ||

बड़ा भयंकर जीव है आया, देखो केजरीवाल | देखो इसका गमछा कैसा, गांधी इसकी टोपी || मुख से अपने सत्य बोलता जैसे अमृत बोली | बड़ा भयंकर जीव है आया, देखो केजरीवाल ||

बड़ा भयंकर जीव है आया, देखो केजरीवाल | आज पुकारे सबको जैसे कोई धरती का सच्चा लाल || नित-नए करतब दिखाता जैसे कोई गुदड़ी का लाल | बड़ा भयंकर जीव है आया, देखो केजरीवाल ||

बड़ा भयंकर जीव है आया, देखो केजरीवाल | आओ जुड़े हम साथ में इसके, वर्ना कहलायेंगे हम भी भ्रष्टाचारी || जन्म साकार करें हम साथ में इसके, जैसे महान विभूति सदाचारी | बड़ा भयंकर जीव है आया, देखो केजरीवाल ||

बड़ा भयंकर जीव है आया, देखो केजरीवाल | किया उपकृत धरती को इसने, डाल दिया अचरज में इसने || करतब इसके वृहद् और विराट, जैसे कोई जादूगर सम्राट | बड़ा भयंकर जीव है आया, देखो केजरीवाल ||

बड़ा भयंकर जीव है आया, देखो केजरीवाल | भाग रहे दिग्गज ऐसे, डोल रहा सिंघासन जैसे || सुधबुध खो गए है बैठे, काल गया प्रकट हो जैसे | बड़ा भयंकर जीव है आया, देखो केजरीवाल ||

बड़ा भयंकर जीव है आया, देखो केजरीवाल | छा गया सन्नाटा ऐसा, आ रहा हो प्रलय जैसा || चहुँ-ओर छाया अंधियारा, बस एक चमक रहा ध्रुव तारे जैसा | बड़ा भयंकर जीव है आया, देखो केजरीवाल ||

_____________________________________________________________ Inspiration taken from the lines penned by Poet.Kakahathrashi.