Sunday, 28th May, 2017

ऑटोवाला रेड लाइट देखकर सिग्नल पर रुका, ट्रैफिक हवलदार सदमे में

06, May 2017 By Jagdish Jat

आज सिल्क बोर्ड जंक्शन के पास अनहोनी घटना घटित हुई, पहली बार कोई ऑटो चालक सिग्नल पर रुका, जिससे कि पूरे क्षेत्र में दहशत का माहौल है। ये घटना देखकर ट्रैफिक हवलदार सदमे में है।

जब हमारे सूत्रों ने जब प्रत्यक्षदर्शियों से बात की तो उनके अनुसार, “देखिये वैसे भी सिल्क बोर्ड पर कितना ट्रैफिक रहता है पता है आपको, उसके ऊपर ऑटो चालक पर यात्री को जल्द से जल्द अपने गंतव्य स्थान पहुचाने का भारी दबाव होता हैं, इतना तो शायद isro को सैटेलाइट छोड़ते समय नही होता । इन सब के बीच जब हमने ऑटो चालक को सिग्नल पर रुकते देखा तो हमारे भी होश उड़ गए, अपने जीवन काल में पहली बार ऐसा हमने देखा।” ये कहते हुए उन्होंने घटना का वीडियो भी हमारे सूत्रों को जबरदस्ती दिखा दिया।

ट्रैफिक हवलदार उस महान ऑटो ड्राइवर के दर्शन करने पहुँचा
ट्रैफिक हवलदार उस महान ऑटो ड्राइवर के दर्शन करने पहुँचा

जब हमने ऑटो चालक रंगा स्वामी से बात करने की कोशिश की तो कई घंटों तक इंतजार के बाद मौका मिला, उनके अनुसार, “देखिए इस ट्रैफिक में किसी ने किसी को तो रूल फॉलो करने ही पड़ेंगे, नही तो 1 घंटे तक तो कोई ये सिग्नल पार नही कर पाता। मुझे इस कदम की प्रेरणा माननीय गृह मंत्री की कड़ी निंदा एवं उनके ठोस कदम उठाने की धमकी से मिली क्योंकि हम गरीब आदमी है और कड़ी निंदा का वार सहन नही कर पाएंगे।”

इसी बीच अप्पोलो हॉस्पिटल के अनुसार ट्रैफिक हवलदार की हालत नाजुक बनी हुई हैं, डॉक्टरों की एक टीम USA से भी आ रही है, इनके इलाज के लिए। अभी तक उन्होंने कुछ भी कहने से मना कर दिया हैं। बैंगलोर ट्रैफिक पुलिस उस हवलदार को इस आकस्मिक घटना को झेलने के पराक्रम में ब्रेवरी अवार्ड देकर सम्मानित करेगा।

अलग-अलग सामाजिक एवं राजनीतिक संगठनों ने ऑटो चालक को सम्मानित करने का आग्रह किया है , कर्नाटक सरकार उनको कर्नाटक रत्न से सम्मानित करेगी। अखिल अंतराष्ट्रीय सिल्क बोर्ड ऑटो असोसिएशन के अध्यक्ष मयप्पन के अनुसार ” देखिए उन्होंने एक मिसाल कायम की है, जिसके लिये हम जल्द ही मोदी सरकार से रंगा स्वामी को भारत रत्न देने की मांग करेंगे।उन्हें अपने साहस और धैर्य के लिए शांति का नोबेल पुरस्कार मिले वो भी कम है” ये कहते कहते अध्यक्ष साहब ने सिल्क बोर्ड के सुंदरीकरण के लिए अपने पान मसाला के पीक से मोनालिसा का चित्रण ओवर ब्रिज की दीवार पर कर दिया।