Wednesday, 18th October, 2017

अगले दो सौ साल में हम पूरा कर लेंगे सेट टॉप बॉक्स बदलने का काम: I&B मिनिस्टर

26, Apr 2016 By Ritesh Sinha

दिल्ली- एक ऐसे युग में जब इंसान अपना ही बर्थडे भूल जाता है, सरकार पिछले सात साल से सेट टॉप बॉक्स बदलने की आखिरी तारीख बदलती जा रही है, भले कोई अपना सेट टॉप बॉक्स बदले या ना बदले, लेकिन तारीख बदले जा रहे हैं। किसी को कोई मतलब नहीं है, की इसकी आखिरी तारीख कब थी, फिर भी इसका विज्ञापन अरविन्द केजरीवाल के विज्ञापन की तरह हर ज़गह नज़र आ ही जाता है।

Arun Jaitely
“येस! जो कॉंग्रेस आज तक 60 साल में नही कर सकी वो हम आने वाले दो सौ साल में कर के दिखाएँगे”.

इसी समस्या के समाधान के लिए सेट टॉप बॉक्स बदलने की आखिरी तारीख दो सौ साल बढ़ाकर 1 जनवरी 2215 कर दी गई है। कई जानकार ये मानते थे की सेट टॉप बॉक्स बदलने का काम क़यामत के आने तक चलता रहेगा, वहीँ कई विशेषज्ञ ये दावा करते थे की सेट टॉप बॉक्स बदलने से पहले नासा मंगल ग्रह पर पानी ढूंढ लेगा।

सेट टॉप बॉक्स बदलने के विज्ञापन से परेशान एक युवक सन्नी देओल ने बताया, “तंग आ गया हूँ मैं इस एड से, तारीख पे तारीख, तारीख पे तारीख, तारीख पे तारीख। सरकारें प्रचार करती रहती है और रह जाती है तो बस “तारीख”। अब की बार इसका विज्ञापन आया तो घर में घुसकर मारूंगा, बहुओं के सास मारूंगा, एक साथ मारूंगा।”

एक और युवक प्रद्युम्न (ACP) ने बताया, “मैं भी तंग आ गया हूँ इस विज्ञापन से, अरे इतने दिनों में तो ये काम हो जाना चाहिए था, इतना लम्बा खींचने की क्या जरूरत थी, लम्बा खींचने का कॉपीराइट सिर्फ CID के पास है, कोई और ये काम कैसे कर सकता है”।

(अब जब प्रद्युम्न की बात चल ही गई है तो यहाँ पर “दया” की बात करना जरूरी हो गया है, वरना भारत के संविधान का उल्लंघन होगा)

एक और युवक दया ने बताया कि, “मैं इस सेट टॉप बॉक्स को तोड़कर देखना चाहता हूँ, दरवाजा तोड़ने में अब कुछ मज़ा नहीं आ रहा है, शायद वहीँ से कुछ सबूत हाथ लग जाए, कि इसमें देरी क्यों हो रही है? आश्चर्य जनक रूप से इस मामले में आप पार्टी ने सरकार का समर्थन किया है और कहा है कि ऐसे विज्ञापन आते रहने चाहिए, क्योंकि विज्ञापन ही देश को महान बनाते हैं।