Saturday, 23rd September, 2017

30% फर्जी ड्राइविंग लाइसेंस में एक मेरा भी: श्री नितिन गडकरी का कबूलनामा

04, Apr 2017 By GADHEKI DUM

केंद्रीय यातायात मंत्री श्री नितिन गडकरी ने यह बात कहकर पूरे राष्ट्र को चौका दिया की देश में 30% ड्राइविंग लाइसेंस फर्जी है। इस विषय पर विस्तृत जानकारी पाने के लिए फेकिंग न्यूज़ संवाददाता ने मंत्री महोदय का एक्सक्लूसिव इंटरव्यू लिया। इसमें सबसे ज्यादा चौकाने वाली बात उन्होंने हमारे संवाददाता के कान में बताई की हाल ही में उन्हें पता चला की उनका खुदका लाइसेंस भी फर्जी है। इसीलिए इस फर्जीवाड़े को रोकने के लिए उन्हें सख्त कदम उठाने की जरूरत पड़ी। “RTO के दलालों ने जब मुझे नहीं बख्शा, तो औरों की क्या बात करें!” ऐसा कहते-कहते उनका BP बढ़ गया और वे पसीना पोछने लगे।

"अरे ये क्या बोल दिया!",नितिन गडकरी जी
“अरे ये क्या बोल दिया!”,नितिन गडकरी जी

इंटरव्यू लीक होते ही विपक्षी दलों को एक हथियार मिल गया। विश्व के सबसे ईमानदार नेता जंतर-मंतर पर धरना देने के लिए निकल पड़े। “जैसे पीछे गडकरी जी को भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष पद से इस्तीफा देना पड़ा था वैसे अब इस बात पर उन्हें मंत्री पद एवं सांसद के पद से हटाकर ही चैन की सांस लेंगे। भले ही उसके लिए MCD चुनाव का प्रचार छोड़ना पड़े। ” ऐसा कहते-कहते परम ईमानदार नेताजी खाँसने लगे।

संसद के सत्र में भी विपक्ष ने इस मुद्दे को जोर-शोर से उठाया। “जब एक कैबिनेट मंत्री फर्जी ड्राइविंग लाइसेंस रखता है, तो फिर आम जनता को कैसे रोकेंगे और क्रिमिनल्स को कौन टोकेगा ? मंत्री महोदय को तुरंत इस्तीफा देना चाहिए” ऐसा कहकर विपक्षी सांसदों ने सदन की कार्यवाही बाधित कर दी। पीठासीन अध्यक्ष महोदया विपक्षी सांसदों को समझाती रही की मंत्री महोदय को अपना पक्ष रखने के लिए तो कम-से-कम शांति बनाये रखे। मगर शोर-शराबा जारी रहा और सदन की कार्यवाही 20 मिनट के लिए स्थगित करनी पड़ी।

दोबारा सदन की कार्यवाही शुरू होने पर श्री गडकरी जी ने शोर-शराबे के बीच अपना पक्ष रखा। “यह बात सही है की देश में 30% ड्राइविंग लाइसेंस फर्जी है। मगर मेरा खुदका लाइसेंस फर्जी है, यह बात मैंने फेकिंग न्यूज़ संवाददाता को अप्रैल फूल बनाने के लिए कही थी।”

पीठासीन अध्यक्ष महोदया ने सभी सांसदों की हिदायत दी की भविष्य में फेकिंग न्यूज़ को कोई इंटरव्यू न दे।